लाइव टीवी

शोधः 20 मीटर गाद भर गई है विश्व प्रसिद्ध नैनी झील में, पानी है सिर्फ 25 मीटर
Nainital News in Hindi

Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: February 6, 2020, 2:44 PM IST
शोधः 20 मीटर गाद भर गई है विश्व प्रसिद्ध नैनी झील में, पानी है सिर्फ 25 मीटर
कुमाऊं विश्वविद्यालय के भूगर्भ वैज्ञानिक बहादूर सिंह कोटलिया नैनी झील पर शोध कर रहे हैं.

नैनीताल (Nainital) में लगातार हो रहे अंधाधुंध निर्माण का मलबा झील में गिराए जाने से इस विश्व प्रसिद्ध पर्यटक स्थल के ऊपर मंडराने लगा है खतरा.

  • Share this:
नैनीताल. सरोवर नगरी नैनीताल की शान और हर साल लाखों पर्यटकों को आकर्षित करने वाली नैनी झील पर संकट मंडरा रहा है. 2016 में झील के सूखने के कगार पर पहुंच जाने से इसके अस्तित्व पर ही चिंता जताई जाने लगी थीं. कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनी झील पर शोध कर रहा है और इस शोध से जो पता चला है, वह भी माथे पर बल डालने वाला है.

तेजी से भर रही गाद
कुमाऊं विश्वविद्यालय के भूगर्भ वैज्ञानिक बहादुर सिंह कोटलिया नैनी झील पर शोध कर रहे हैं. वह बताते हैं कि 2016 में नैनीझील में पानी सूखने के दौरान लिए गए मिट्टी और पत्थरों के नमूनों से पता चला है कि पिछले 140 साल में झील के अंदर 130 सेंटीमीटर गाद और मिट्टी भर गई है. इसका अर्थ यह है कि भीमताल, नौकुचियाताल, सातताल के मुकाबले झील में 30 गुना तेज़ी से गाद भर रही है. कोटलिया बताते हैं कि झील पर 1880 के भूस्खलन का भी असर है. यह भूस्खलन इतना खतरनाक था कि इसके बड़े बोल्डर तल्लीताल तक पहुंच गए थे.

अंधाधुंध निर्माण का असर

पिछले कुछ वर्षों से नैनीताल में हुए अंधाधुध निर्माण का भी झील की सेहत पर असर पड़ा है. इस अंधाधुंध निर्माण का मलबा झील में लगातार गिरता रहा है. बताया गया कि 2016 में झील के सूखने के कगार पर पहुंचने की एक बड़ी वजह यह भी हो सकती है.

नैनीझील पर आए संकट पर कुमाऊं विश्वविद्यालय ने झील पर शोध शुरू किया तो पता चला कि 50,000 साल पुरानी झील में अब तक 20 मीटर गाद जमा हो चुकी है और अब झील में पानी 25 मीटर ही रह गया है. कोटलिया कहते हैं कि अगर हालात ऐसे ही बने रहे तो झील पर बड़ा संकट आने वाला है.

ये भी देखें: अब बच सकेगी नैनी झील... झील में गिरने वाले 62 नालों के ट्रीटमेंट का काम शुरु

सरकारी विभागों की लापरवाही से दम न तोड़ दे नैनीताल की ये ख़ूबसूरत झील

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नैनीताल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 1:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर