उत्तराखंड सरकार की बढ़ी चिंता, अब नैनीताल जेल में 53 कैदी मिले Corona Positive

जेल में ही कैदियों का इलाज होगा.

प्रशासन का कहना है कि संक्रमित (COVID-19) कैदियों को जेल में ही बेहतर इलाज दिया जाएगा. कैदी जेल (Nainital Jail) में ही रहेंगे.

  • Share this:
नैनीताल. उत्तराखंड के नैनीताल जेल (Nainital Jail) में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक साथ 53 कैदी और एक जेल कर्मी को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो गई. खबर फैलते ही नैनीताल जिला जेल में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है. अब जेल प्रबंधन के आगे समस्या खड़ी हो गई है कि कैसे इनको बेहतर तरिके से रखा जाए और इन कैदियों को स्वस्थ किया जा सके. नैनीताल जेल में 52 कैदियों और एक जेल कर्मी की आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव (COVID-19 Positive) आने के बाद से ही कैदियों में खैफ की स्थिति बनी है. हालांकि जिला प्रशासन ने साफ कर दिया है कि कोरोना से संक्रमित कैदी नैनीताल जेल में ही रहेंगे.

प्रशासन का कहना है कि कैदियों को जेल में ही बेहतर इलाज दिया जाएगा. नैनीताल जिला अस्पताल के सीएमएस के एस धामी ने बताया कि रिपोर्ट आने के बाद जिला प्रशासन और जेल प्रबंधन को इसकी जानकारी दी जा चुकी है. इन कोरोना पॉजिटिव कैदियों को जेल में ही आइसोलेट किया जा रहा है. इसके साथ ही शहर में 3 अन्य मामले जो सामने आए हैं उनको कोविड केयर सेंटर भेजा गया है. उनके सम्पर्क में आने वालों को होम क्वारंटीन किया गया है.

नैनीताल जेल है कोविड सेंटर

दरअसल, कोरोना संक्रमण फैलने के बाद से ही नैनीताल जेल को कोविड सेंटर बनाया गया है जिसमें पहले भी 9 कैदियों को कोरोना की पुष्टि हुई है. हालांकि अब 53 नए मामले सामने आने के बाद जेल के कैदियों में हड़कंप मचा हुआ है. नैनीताल जेल के जेलर मनोज आर्य ने बताया कि जेल में कुल 199 कैदियों को रखा गया है. जो नये मामले सामने आए है उससे अन्य कैदियो के लिए कोई दिक्कतें नहीं है क्योंकि शासन की गाइड़लाइन के तहत होम आइसोलेशन जैसी सुविधा यहां दी जा रही है. जो भी कैदियों में अभी कोरोना संक्रमण पाया गया है उनके लिये व्यवस्था कर दी गई है.

डॉक्टर और जिला प्रशासन भी बनाए है नजर

नैनीताल जेल में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने के बाद अब जिला प्रशासन की भी चिंता बढ़ने लगी है. हालांकि कैदियों की देखरेख में लगे डॉक्टरों ने इन कैदियों को जेल में ही इलाज देने का फैसला लिया है. नैनीताल जिला अस्पताल के सीएमएस डॉक्टर धामी ने कहा कि जिला अस्पताल कैदियों को इलाज देने का प्लान तैयार कर चुका है. लेकिन इसके बाद भी अगर किसी को ज्यादा दिक्कतें आती है तो उसको हल्द्वानी रैफर किया जाएगा।.

शहर को भी खतरा, नियमों का उल्लंघन

पिछले दिनों से लगातार नैनीताल शहर में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हालांकि नैनीताल में पर्यटन खुलने से शहर में संक्रमण फैलने का खतरा भी बन गया है. पर्यटक बिना मास्क के ही नाव की सवारी कर रहे हैं, तो सोशल डिस्टेंस का भी पालन नहीं कर रहे हैं. हालांकि इसके लिए जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने पुलिस को सूचित भी किया है कि अगर मास्क और अन्य कोविड नियमों का पालन नहीं होगा तो शहर में और तेजी से कोरोना का मामले सामने आ सकते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.