Home /News /uttarakhand /

नि:शुल्क इलाज का तोहफा तो दिया, लेकिन यहां अस्पताल ही हैं बीमार

नि:शुल्क इलाज का तोहफा तो दिया, लेकिन यहां अस्पताल ही हैं बीमार

बंद पड़ा सीटी स्कैन कमरा

बंद पड़ा सीटी स्कैन कमरा

कुमाऊं में स्वास्थ्य महकमें का सबसे बड़ा अस्पताल है. पहाड़ों से मरीज यहां बेहतर उपचार की आस लिए पहुंचचे हैं, लेकिन अस्पताल में न तो पर्याप्त डॉक्टर है और न ही जांच मशीनें ठीक है. ऐसे में इलाज मिले तो तो मिले कैसे.

उत्तराखंड सरकार ने भले ही प्रदेश के हर व्यक्ति को निशुल्क इलाज का तोहफा दे दिया हो, लेकिन सरकारी अस्पतालों की बदहाली इस तोहफे का मजा किरकिरा कर सकती है. हल्द्वानी का बेस अस्पताल पूरी तरह से बीमार है. यहां न तो डॉक्टर है और न ही जांच के लिए मशीन हैं. ऐसे में सवाल यह है कि इन बीमार अस्पतालों में क्या निशुल्क इलाज किया जाएगा.

कुमाऊं में स्वास्थ्य महकमें का सबसे बड़ा अस्पताल है. पहाड़ों से मरीज यहां बेहतर उपचार की आस लिए पहुंचचे हैं, लेकिन अस्पताल में न तो पर्याप्त डॉक्टर है और न ही जांच मशीनें ठीक है. ऐसे में इलाज मिले तो तो मिले कैसे. अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन के कमरे के बाहर करीब डेढ महीने से ताला लटका हुआ पड़ा है. इसके अलावा सीटी स्कैन मशीन के दरवाजे छह माह से बंद है क्योंकि दोनों मशीनें खराब पड़ी है.

बेस अस्पताल के पीएमएस डॉक्टर एचबी ओली का कहना है कि सीटी स्कैन की मशीन की चार साल की वारंटी थी, जो कि खत्म हो चुकी है. इसे ठीक करवाने के लिए सीएमसी द्वारा शासन को एक प्रपोजल बनाकर भेजा था, जिसके लिए करीब 1 करोड़ 24 लाख रुपये जमा करवाने थे, लेकिन शाशन से पैसा नहीं मिला तो मशीन ठीक नहीं हो पाई. उन्होंने बताया कि अल्ट्रासाउंड की मशीन का मदरबोर्ड और प्रोब खराब हो चुका है जिसे बदलवाने की सेंक्सन मिल चुकी है. यह सामान चुंकि विदेश से आना है इसलिए जैसे ही यह सामन आएगा मशीन शुरू हो जाएगी.

अस्पताल में आये मरीजों का कहना है कि अस्पताल में मशीनों की खराबी का खामियाजा गरीब मरीजों को भुगतना पड़ रहा है. मशीनों के अभाव में मरीज यहां आते तो हैं, लेकिन बिना जांच के लौटना पड़ता है. चिकित्सक भी जांच के लिए दिनांक पर दिनांक देते रहते हैं. अस्पतालों की यह बदलाली प्रदेश के सीमांत और दूर-दराज के इलाको में नहीं है, बल्कि ये देहरादून के बाद सबसे संपन्न कहे जाने वाले हल्द्वानी की है. ऐसे में दूर-दराज की स्वास्थ्य सेवाओं का अनुमान आसानी से लगाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें-  CM ने किया ‘अटल आयुष्मान योजना’ का शुभारंभ, 5 लाख रुपये तक मुफ़्त इलाज

यह भी पढ़ें-  सुर्खियां: आज मिलेगी आयुष्मान योजना की सौगात, आवासीय और व्यावसायिक भवन बनाना भी होगा आसान

Tags: Ayushman Bharat scheme, Haldwani news, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर