Uttarakhand: तय था वैक्सीनेशन का समय, मगर रजिस्ट्रेशन के लिए नेटवर्क खोजती रह गई टीम

वैक्सीनेशन के लिए ग्रामीणों को करना पड़ा काफी इंतजार.

वैक्सीनेशन के लिए ग्रामीणों को करना पड़ा काफी इंतजार.

Nainital News: उत्तराखंड के नैनीताल (Nainital) के ग्रामीण इलाकों में नेटवर्क की समस्या के कारण 45 प्लस के वैक्सीनेशन (Corona Vaccine) में परेशानी हो रही है.

  • Share this:

नैनीताल. उत्तराखंड के नैनीताल (Nainital) के ग्रामीण इलाकों में वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) हो रहा है, लेकिन इसमें स्वास्थ्य विभाग की खामियां भी उजागर हो रही हैं. स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीण इलाकों के लिए वैक्सीन लगाने के लेकर रोस्टर तैयार किया है. लेकिन वैक्सीन सेंटर में नेटवर्क नहीं होने से ग्रामीणों के साथ वैक्सीनेशन टीम को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल वाक्या नैनीताल के बजून का है जहां वैक्सीनेशन की तारीख तय थी. सुबह टीम बजून अस्पताल पहुंची तो नेटवर्क ही नहीं मिला. इसके बाद पूरी टीम लोगों को लेकर पास में बनी पटवारी चौकी पर पहुंची. लेकिन वहां भी नेटवर्क नहीं काम किया. परेशान डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ पहाड़ में नेटवर्क खोजते रहे.

11 बजे तक नेटवर्क नहीं मिलने पर अस्पताल से दूर एक होटल के वाई-फाई से नेटवर्क लिया गया जिसके बाद 45 प्लस बुजुर्गों का रजिस्ट्रेशन हो सका. वैक्सीनेशन में लगी टीम के डॉक्टर कासिम ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में सभी स्थानों पर नेटवर्क की दिक्कतें हैं. मंगोली के बाद बजून में भी परेशानियां हो रही हैं. लेकिन अब नेटवर्क मिला है तो 100 लोगों को शाम तक वैक्सीन लगाएंगे.

वैक्सीनेशन सेंटर में अव्यवस्थाओं से जनता परेशान

वैक्सीनेशन सेंटरों में अव्यवस्थाओं से ग्रामीण परेशान हैं.  वैक्सीन लगाने लोग सुबह सेंटरों में पहुंचे लेकिन बैठने तक कि व्यवस्था नहीं थी. लोग बारिश और धूप में बैठने को मजबूर थे. लोगों ने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही का रोप भी लगाया है. बजून के पूर्व प्रधान शंकर सिंह ने कहा कि 12 बजे तक वैक्सीन लगाने वालों के टेबल कुर्सी ही नहीं लग पा रही हैं. सुबह से लोग गांव से आये हैं. ऐसे में कब नंबर आएगा कब लोग घर लौटेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज