उत्तराखंडः परीक्षा से पहले करना चाहता था मौज-मस्ती, कॉल-गर्ल के फेर में गंवा बैठा 17000 रुपए

नैनीताल पुलिस किच्छा के एक युवक की शिकायत पर मामले की जांच कर रही है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)
नैनीताल पुलिस किच्छा के एक युवक की शिकायत पर मामले की जांच कर रही है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नैनीताल में तकनीकी कोर्स की परीक्षा देने आए युवक ने सोशल साइट के जरिए कॉल-गर्ल की बुकिंग की थी. फोन पर झांसे में आकर 17 हजार रुपए का नुकसान करा बैठा. शिकायत के बाद पुलिस कर रही जांच.

  • Share this:
नैनीताल. नैनीताल में किसी तकनीकी कोर्स की परीक्षा देने आए किच्छा के एक युवक का होटल में पहुंचते ही मन ऐसा मचला कि वह सोशल साइट पर कॉल गर्ल की बुकिंग कर बैठा. हालांकि कॉल गर्ल तो नहीं पहुंची, लेकिन उसके अकाउंट से 17 हजार की रकम चली गई. युवक ने सुबह इस मामले की शिकायत नैनीताल पुलिस को जो अब मामले की जांच कर रही है. पुलिस के अनुसार नैनीताल में साइबर ठगी के और भी मामले सामने आए हैं जिनकी जांच की जा रही है.

कैसे हुई धोखाधड़ी
ऊधम सिंह नगर के किच्छा के युवक ने नैनीताल पहुंचकर होटल बुक किया था. शाम ढलते ही उसने सोशल साइट्स पर सर्च कर वहां मिले नंबरों पर कॉल गर्ल की डिमांड की. कॉल गर्ल का सौदा एक रात के लिए 7 हजार में हुआ. इसके बाद उसने एक हज़ार रुपये ऑनलाइन ट्रांस्फर कर दिए.

जब यह पैसा कॉल गर्ल साइड वाले को मिल गया तो उसने होटल की लोकेशन देते हुए दो हज़ार रुपये और मांगे. इसके बाद युवक को बताया गया कि बचे हुए पैसे यानी चार हज़ार और दे दे तो कॉल गर्ल उसके कमरे में आ जाएगी. यह पैसा भी भेजने के बाद 10 हज़ार रुपये सिक्योरिटी मनी और लोडिंग चार्ज के रूप में मांग की गई. साथ ही कहा गया कि यह पैसा कॉल गर्ल कमरे में पहुंचते ही वापस कर देगी.
पैसा वापस मांगा तो फ़ोन हुआ बंद


अब तक यह युवक 17 हजार रुपये का भुगतान कर चुका था. अब उससे 10 हज़ार रुपये पुलिस सेफ्टी चार्ज मांगा गया. अब उसे समझ आने लगा कि उसके साथ धोखाधड़ी होने लगी है. इस पर उसने पैसा देने से इनकार किया और अपना पैसा वापस मांगा तो दूसरी तरफ का नम्बर ही बंद हो गया.

जब इस युवक को पता चला कि उसके साथ ठगी हो गई है तो वह पुलिस के पास पहुंचा. अपनी आपबीती सुनाकर  उसने अपना पैसा वापस दिलाने की मांग की. पुलिस ने उसकी लिखित शिकायत लेकर जांच शुरु कर दी है. नैनीताल के सीओ विजय थापा ने कहा कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है और इसकी जांच सतेन्द्र गंगोला द्वारा को दे दी गई है. जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर मुक़दमा दर्ज किया जाएगा.

साइबर ठगी के और भी मामले
सिर्फ कॉल गर्ल ही नहीं बल्कि लॉकडाउन के बाद ठगी के और भी मामले सामने आ रहे हैं. लोगों को आए दिन ठगों के कॉल आ रहे हैं तो बुकिंग और बैंक अकाउण्ट के नाम पर ज़्यादा ठगी होने लगी है. नैनीताल में पहुंचे एक पर्यटक से हाल ही में ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर के नाम पर 86 हजार की ठगी की गई.

सोनीपत के मंजीत सिंह अपने चार दोस्तों के साथ नैनीताल आए थे. पंगूट में तीन दिन के लिए होटल बुक किया और चेक आउट के दौरान 13 हज़ार के बिल भुगतान गूगल-पे से किया. इंटरनेट कनेक्टिविटी सही न होने के चलते पैसा होटल स्वामी के खाते में नहीं आ सका.

लगातार समस्या आने के बाद मंजीत ने बैंक ने कस्टमर केयर से बात करने की बात कही. कस्टमर केयर एग्ज़ीक्यूटिव ने मंजीत से जानकारी ली और थोड़ी ही देर में 86 हज़ार निकालने का मैसेज उसके फ़ोन पर आ गया. इसके बाद मंजीत ने पुलिस को तहरीर दी गई है हांलाकि इस मामले की भी जांच में भी पुलिस जुटी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज