अपना शहर चुनें

States

उत्तराखंड चुनाव 2022: हर विधानसभा की समीक्षा करेगी कांग्रेस... 70 सीटों के लिए 140 नामों का ऐलान इसी हफ़्ते

कांग्रेस अब उत्तराखंड में अपनी भारी-भरकम टीम का इस्तेमाल पार्टी को विधानसभा स्तर पर मजबूत करने के लिए करेगी
कांग्रेस अब उत्तराखंड में अपनी भारी-भरकम टीम का इस्तेमाल पार्टी को विधानसभा स्तर पर मजबूत करने के लिए करेगी

कांग्रेस अब उत्तराखंड में अपनी भारी-भरकम टीम का इस्तेमाल पार्टी को विधानसभा स्तर पर मजबूत करने के लिए करेगी

  • Share this:
हल्द्वानी. उत्तराखंड में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरे के बाद विपक्षी कांग्रेस के भीतर भी हलचल तेज़ है. कांग्रेस अब अपने संगठन को लेकर भी कवायद तेज़ कर चुकी है. पार्टी ने अब विधानसभावार अपने संगठन को मजबूत करने का टारगेट बनाया. इसके लिए कांग्रेस हर विधानसभा में अपने प्रभारियों की नियुक्ति करेगी, जो संगठन की कमजोरियों को प्रदेश नेतृत्व के सामने रखेंगे.

ऐसे करेंगे विधानसभा प्रभारी काम

2022 के विधानसभा चुनाव में अब महज एक साल का वक्त बचा है. ऐसे में कांग्रेस और बीजेपी संगठन मजबूत करने में जुटे हैं. पहले से ही संगठन के मामले में मजबूत बीजेपी के मुकाबले के लिए कांग्रेस अब विधानसभा वार अपने संगठन की समीक्षा करेगी. इसके लिए पीसीसी प्रीतम सिंह अपनी जंबो ​टीम का इस्तेमाल करेंगे.



कांग्रेस अब विधानसभावार अपने प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों को प्रभारियों की नियुक्ति करने जा रही है जिससे चुनावी तैयारियां जोर पकड़ सकें. कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के मुताबिक उनकी पार्टी राज्य की 70 की 70 विधानसभाओं में प्रभारी और सह प्रभारियों की नियुक्ति करेगी, जिसकी घोषणा इसी हफ्ते होने जा रही है.
नेता प्रतिपक्ष ने बताया कि प्रभारी और सह प्रभारी पार्टी के प्रदेश स्तरीय पदाधिकारी होंगे, जो कांग्रेस के मुख्य संगठन से लेकर उसके फ्रंटल संगठनों के बारे में एक ब्रीफ रिपोर्ट तैयार करेंगे. इसे प्रदेश स्तर पर बनी हाई पावर कांग्रेस कमेटी को भेजा जाएगा. इसी रिपोर्ट के आधार पर संगठन में जमीनी स्तर पर जरूरी बदलावों को अंजाम दिया जाएगा.

बीजेपी का दावा, नाकाम रहेगी कांग्रेस की कोशिशें

कांग्रेस की इस कवायद पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बंशीधऱ भगत ने चुटकी ली है. भगत ने कहा है कि बीजेपी की केंद्र और राज्य सरकार ने मिलकर उत्तराखंड के लिए इतने काम किए हैं कि जनता किसी बदलाव की तरफ सोचने को भी तैयार नहीं. इसलिए कांग्रेस की सारी कोशिश नाकाम रहने वाली है.

भगत ने दावा किया है कि बीजेपी 2027 में जीती हुई 57 सीटों के मुकाबले 2022 में 60 से ज़्यादा सीट जीतेगी. ज़ाहिर तौर पर भगत ने ऐसा दावा बीजेपी के मजबूत संगठन के दम पर ही किया है. ऐसे में कांग्रेस को खासी मेहनत करनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज