Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड में भारी बारिश से बिगड़े हालात: चारधाम यात्रा रोकी, करीब 5 हजार यात्री फंसे, 65 सड़के बंद

उत्तराखंड में भारी बारिश से बिगड़े हालात: चारधाम यात्रा रोकी, करीब 5 हजार यात्री फंसे, 65 सड़के बंद

उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते चारधाम यात्रा को अचानक रोकना पड़ा है.

उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते चारधाम यात्रा को अचानक रोकना पड़ा है.

Uttarakhand heavy rain: उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते चारधाम यात्रा को अचानक रोकना पड़ा है. बारिश से 65 सड़कें बंद हो गईं, जिस कारण हजारों यात्री फंस गए हैं. सबसे अधिक केदारनाथ में 2700 यात्री फंसे हैं. बिगड़े हालातों पर गृह मंत्री अमित शाह ने भी फोन पर इसकी जानकारी ली है.

अधिक पढ़ें ...

नैनीताल. मौसम विभाग की चेतावनी का असर नैनीताल (Nainital) समेत कई जगहों पर दिखने लगा है. भारी बारिश (Heavy rain) के चलते चारधाम यात्रा को अचानक रोकना पड़ा है. प्रदेश में भारी बारिश से 65 सड़कें बंद हो गईं, जिस कारण हजारों यात्री फंस गए हैं. सबसे अधिक केदारनाथ में 2700 यात्री फंसे हैं. उत्तराखंड में बारिश से बिगड़े हालातों पर गृह मंत्री अमित शाह ने भी फोन पर इसकी जानकारी ली है. सीएम ने पर्यटकों पर खासतौर पर नज़र रखने के निर्देश जारी किए हैं. बारिश में फंसे लोगों का जरूरत पड़ने पर हेलीकॉप्टर करने को भी कहा गया है.

मौसम खराब होने के चलते चारधाम यात्रा को पूरी तरह रोका गया है. सभी जिलों में बारिश के हालात के चलते सरकार अलर्ट हो गई है. कई जगहों पर यात्री फंसे हुए हैं. बद्रीनाथ में दो हजार यात्री मौजूद हैं, वहीं केदारनाथ में 27 सौ और गंगोत्री में 300 यात्री मौजूद हैं. सभी यात्रियों को हालात सामान्य होने तक धाम में ही रोका गया है. आपदा प्रबंधन मंत्री धन सिंह रावत ने कहा है कि प्रशासन यात्रियों को हर सुविधा उपलब्ध करा रहा है. कल से लगातार बारिश जारी है. तीर्थयात्रियों से फिलहाल यात्रा टालने का अनुरोध किया गया है. यात्रियों के लिए होटल और धर्मशाला में ठहरने की व्यवस्था की गई है.

गंगा के जलस्तर पर प्रशासन की नजर

भारी बारिश के चलते गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है. गंगा के बढ़ते जलस्तर पर प्रशासन की नजर बनी हुई है. बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है. लगातार बारिश से तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है. लालढांग – कोटद्वार मार्ग पर नदी में यात्री बस फंस गई. इस बस में 25 यात्री सवार थे. यात्रियों के फंस जाने के बाद सीमा विवाद में पुलिस और आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी उलझे दिखे. लोगों का आरोप है कि टोल फ्री नंबर पर भी रेस्पॉन्स नहीं मिल रहा है. कई यात्रियों को जान का जोखिम भी देखा जा रहा है.

आपदा को लेकर मीटिंग

शाम पांच बजे आपदा प्रबंधन मंत्री ने बैठक बुलाई है. स्टेट डिजास्टर कन्ट्रोल रूम में अधिकारियों के साथ समीक्षा की जाएगी. 19 अक्टूबर को भी तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.

प्रदेश में भारी बारिश से 65 सड़कें बंद

प्रदेश में भारी बारिश के चलते आवागमन ठप हो गया है. राज्य की करीब 65 सड़कें बंद हो गईं. बारिश के बीच दस सड़कों को प्रशासन ने तेजी से काम कराते हुए खुलवा भी दिया है. बारिश के कारण पांच नेशनल हाईवे, सात स्टेट हाईवे अभी भी बंद हैं. बद्रीनाथ हाईवे कलियासौड़ से खांकरा तक मलबा आने से बंद हो गया. ज्योलिकोट नेशनल हाईवे भी मलबा आने से बंद हो गया.

नैनीताल में बारिश का असर

नैनीताल जिले की 9 सड़कें बंद हैं. भौर्या बैंड पर मालवा आने से राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया. बेतालघाट ब्लाक जाने वाली सड़कें भी बंद हो गईं. कई स्थानों पर टूरिस्ट फंसने की भी खबरें भी आ रही हैं. आपदा कंट्रोल रूम नैनीताल में कोई जानकारी देने को तैयार नहीं है.

Tags: Chardham Yatra, Dehradun news, Nainital news, Rain alert, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर