उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट के लिए अच्छी खबर, जानें कैसे घर बैठे मिलेगी डिग्री

उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में मिलेगी डिगी लॉकर की सुविधा.

उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में मिलेगी डिगी लॉकर की सुविधा.

​उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी (Uttarakhand Open University) ने डिजी लॉकर के जरिए ऑनलाइन डिग्री, मार्कशीट लेने की सुविधा साल 2018 के बाद विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट को दे रखी है. नौकरी के लिए कंपनी भी ऑनलाइन ही यूनिवर्सिटी से दस्तावेजों का वैरिफिकेशन करा सकती है.   

  • Share this:
हल्द्वानी. उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी (UOU) से कोर्स कर रहे एक लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी है. यूओयू में पढ़ने वाले नए और पुराने स्टूडेंट्स को अब अपनी डिग्री के लिए यूनिवर्सिटी नहीं आना होगा. बल्कि एक क्लिक के जरिए घर बैठे ही स्टूडेंट्स को डिग्री मिल जाएगी.  क्योंकि यूओयू को डिजी लॉकर (Digi Locker) में स्टूडेंट के मार्कशीट और डिग्री संबंधी डॉक्यूमेंट जारी करने की परमिशन मिल गई है. इसलिए  यूनिवर्सिटी डिजी लॉकर के जरिए स्टूडेंट को आसानी से डिग्री और मार्कशीट निकालने  की सुविधा दे रही है.

​उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी (Uttarakhand Open University) ने डिजी लॉकर के जरिए ऑनलाइन डिग्री, मार्कशीट लेने की सुविधा साल 2018 के बाद विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट को दे रखी है. यावी साल 2018 के बाद जिस भी स्टूटेंड ने यूनिवर्सिची से कोई भी डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट किया है उसे ऑनलाइन डिग्री घर बैठे लेने की सुविधा मिलेगी.

 ऐसे काम करेगा डिजी लॉकर 

उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. ओम प्रकाश सिंह नेगी के मुताबिक छात्र को डिजी लॉकर में खुद का रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसमें यूनिवर्सिटी का इनरॉलमेंट नंबर, रोल नंबर और नाम के साथ पासिंग आउट साल की डिटेल देनी होगी. इतनी इंट्री के बाद आपकी डिग्री या मार्कशीट अपने आप डिजी लॉकर के डाउनलोड बॉक्स में डाउनलोड हो जाएगी.
ये भी पढ़ें: हरियाणा: प्राइवेट सेक्टर की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण पर लगी मुहर, गजट नोटिफिकेशन जारी

नहीं करना होगा फिजिकल वैरीफिकेशन 

उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी से डिग्री, डिप्लोमा, सर्सिटिकेट करने वाले स्टूडेंट अगर कहीं भी नौकरी के लिए जाते हैं या कि दूसरी यूनिवर्सिटी में एडमिशन के जाते हैं तो उन्हें अपने साथ डिग्री या मार्कशीट ले जाने की जरूरत नहीं. बल्कि डिजी लॉकर में डाउनलोड डिग्री ही उनके काम आ जाएगी. जिस कंपनी या संस्थान में यहां से पास आउट स्टूडेंट जाएंगे वो कंपनी ऑनलाइन ही यूनिवर्सिटी से दस्तावेजों का वैरिफिकेशन करा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज