डेढ़ करोड़ की स्मैक बरामद, उप्र से उत्तराखंड के पहाड़ों तक फैले ड्रग्स नेटवर्क को तबाह करने की तैयारी

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों तक फैला है बड़ा ड्रग्स नेटवर्क.

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों तक फैला है बड़ा ड्रग्स नेटवर्क.

Action To Distroy The Drug Mafia Network: उत्तराखंड पुलिस ने ड्रग्स के नेटवर्क के दो सरगनाओं को पकड़कर दावा किया कि उनसे कई अहम जानकारियां मिली हैं. नशे का यह कारोबार यूपी के बरेली से ऑपरेट हो रहा है और उत्तराखंड के पहाड़ी ज़िलों तक फैल चुका है.

  • Share this:

रामनगर. उड़ता पंजाब की तर्ज़ पर उत्तराखंड के पहाड़ी ज़िलों तक नशे के नेटवर्क को पुलिस अब खत्म करने की रणनीति बना रही है.. इस नेटवर्क के दो बड़े सौदागरों को काशीपुर पुलिस ने पकड़ा तो उनके पास से डेढ़ करोड़ रुपये की कीमत वाली स्मैक बरामद की गई. महत्वपूर्ण बात यह है कि उत्तराखंड की पहाड़ी फिज़ा में नशे का ज़हर घोलने वाले इस नेटवर्क को उत्तर प्रदेश के बरेली से चलाया जा रहा है. अब सवाल यह है कि स्मैक के इन सौदागरों की गिरफ्तारी कैसे संभव हुई.

बरेली से नशे का नेटवर्क चलाने वाले ये दोनों सौदागर लम्बे समय से उत्तराखंड में नशे के कारोबार को अंजाम दे रहे हैं. इनका पूरा नेटवर्क बरेली से लेकर उत्तराखंड के मैदानी क्षेत्रों से पहाड़ी ज़िलों तक फैला है. काशीपुर पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए इनके नेटवर्क को तोड़ने के लिए भी पूरी रणनीति बना ली है.

ये भी पढ़ें : CRPF कैंप के खिलाफ 40 गांवों के आदिवासी सड़कों पर, किस मुद्दे पर है बवाल?


uttarakhand news, crime in uttarakhand, uttarakhand drugs network, uttarakhand drugs industry, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड ड्रग्स नेटवर्क, उत्तराखंड ड्रग्स कारोबार, उत्तराखंड क्राइम न्यूज़
पुलिस के हत्थे चढ़े दो स्मैक कारोबारी.

कैसे गिरफ्त में आए दो सरगना?

नशे के कारोबार से जुड़े गिरफ्तार दोनों सरगनाओं के पास से 300 ग्राम अवैध स्मैक बरामद की गई है. वास्तव में, लॉकडाउन की वजह से नेटवर्क से जुड़े लोग जब ड्रग्स खरीदने नहीं पहुंच पाये, तो दोनो सौदागर स्मैक लेकर खुद ही उत्तराखंड में बेचने आए थे. तभी मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने दबिश देकर दोनों को गिरफ्तार किया. पुलिस के मुताबिक पूछताछ में कई अहम् सुराग हाथ लगे हैं.



ये भी पढ़ें : लॉकडाउन, सरकारी रोक, फिर भी BJP नेताओं के बद्रीनाथ पहुंचने पर हंगामा, पुरोहितों ने उठाए सवाल


नशे का नेटवर्क तबाह करने की कोशिश

दोनों आरोपियों के मुताबिक काशीपुर में उनके नेटवर्क से कई लोग जुड़े हैं, जो अब पुलिस के निशाने पर आ गए हैं. यही नहीं, पुलिस नशे के कारोबार से जुड़े पूरे नेटवर्क को तोड़ने के लिए एक टीम बनाकर उत्तर प्रदेश की पुलिस के साथ मिलकर रणनीति को अंजाम देगी. इसके लिए बरेली पुलिस से बात की जा रही है. पकड़े गए दोनों आरोपी भाई हैं, जिनके आपराधिक रिकॉर्ड को भी पुलिस खंगाल रही है. यही नहीं, नशे के कारोबार में जिनके नाम पुलिस को मिल चुके हैं, उन्हें चिह्नित कर तलाशने की मुहिम छेड़ दी गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज