• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • पहाड़ों में पनप रहा है नशे का ज़हर, अब उत्तराखंड पुलिस ने बनाया 'बड़ी मछलियां' पकड़ने का ये प्लान

पहाड़ों में पनप रहा है नशे का ज़हर, अब उत्तराखंड पुलिस ने बनाया 'बड़ी मछलियां' पकड़ने का ये प्लान

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में ड्रग्स का कारोबार तेज़ी से पनपा है. (File Photo)

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में ड्रग्स का कारोबार तेज़ी से पनपा है. (File Photo)

Drugs Mafia in Uttarakhand : अब तक राज्य में ड्रग्स के बड़े गैंग्स और कारोबारियों को शिकंजे में लेने में नाकाम रही पुलिस अब क्या प्लान तैयार कर रही है? ये भी जानिए कि राज्य के पहाड़ी इलाकों में नशे की इबारतें कैसे लिखी जा रही हैं.

  • Share this:

नैनीताल. उत्तराखंड के मशहूर पर्यटन स्थल नैनीताल समेत पहाड़ों पर नशे का कारोबार पिछले कुछ सालों में खूब फल फूल रहा है. खास तौर पर युवा नशे के सौदागरों के शिकंजे में आ रहे हैं, तो स्मैक व चरस के कारोबारी कइयों को अपना शिकार बना रहे हैं. हालांकि पुलिस कार्रवाई के लिए अभियान ज़रूर चला रही है लेकिन छोटे कारोबारियों तक ही पहुंच पाती है. पुलिस इस कारोबार को खत्म करने में नाकाम दिख रही है, हालांकि अब कुमाऊं में स्मैक कारोबार की छोटी मछलियों के बजाए बड़ी मछलियों पर पुलिस हाथ डालने का प्लान तैयार कर रही है. एक पूरी चेन तोड़ने के लिए उन पर गैंगस्टर एक्ट लगाने की भी पुलिस ने तैयारी कर ली है.

नैनीताल में कितना पनप रहा है नशे का कारोबार?
पर्यटन के साथ ही नैनीताल ज़िला नशे में भी अव्वल बन रहा है. स्मैक तस्करी के साथ चरस गांजा, सफेद पाउडर, नशीली दवाओं की लत युवाओं को लगाई जा रही है. पिछले 8 महीनों में नैनीताल ज़िले में एनडीपीएस के 189 मामले सामने आए हैं, तो ऊधमसिंह नगर ज़िले में 150 मुकदमे पंजीकृत हुए. यही हाल अल्मोड़ा, चम्पावत, बागेश्वर जैसे पहाड़ी ज़िलों का भी है. कहां कितने मुकदमे दर्ज हो रहे हैं, कितनी गिरफ्तारियां हो रही हैं और गिरफ्तारों से कितनी ड्रग्स बरामद हो रही है, इन्फोग्राफिक में देखिए.

ये भी पढ़ें : गंगोत्री धाम जा रही कार खाई में गिरने से एक की मौत, उधर बद्रीनाथ नेशनल हाईवे ठप, जानिए डिटेल्स

uttarakhand news, drugs dealer, drugs peddler, drugs in uttarakhand, drugs in nainital, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड में ड्रग्स, ड्रग्स कारोबार

न्यूज़18 इन्फोग्राफिक्स

ये भी पढ़ें : Char Dham Yatra: यात्रियों की सीमित संख्या से विपक्ष व पुरोहित नाराज, इधर भीड़ के चलते ई-पास की समयसीमा तय

हालांकि पहाड़ में तेज़ी से बढ़ रही डिमांड पर पुलिस भी कार्रवाई का दम दिखा रही है लेकिन कम मात्रा में स्मैक होने के चलते कारोबारियों को ज़मानत भी मिल जाती है. वहीं, डीआईजी कुमाऊँ रेंज नीलेश आंनद भरणे ने कहा कि अब छोटे स्मैक तस्करों के साथ स्मैक के बड़े कारोबारियों पर पुलिस की नज़र है. एक पूरी चेन तोड़ने के लिए पूरे गैंग पर गैंगस्टर एक्ट के तहत एक्शन लिया जाएगा. पुलिस की कोशिश है कि इन तस्करों को ज़मानत आसानी से न मिल सके और इनके नेटवर्क को खत्म किया जा सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज