Home /News /uttarakhand /

uttarakhand weather update know monsoon date imd forecast and why people afraid of possible disaster

उत्तराखंड मौसम: कब आएगा Monsoon? यहां बारिश के नाम से लोग दहशत में, क्या एक और आपदा झेलेंगे?

उत्तराखंड में मॉनसून से जुड़े ताज़ा व ज़रूरी अपडेट्स न्यूज़18 पर जानिए.

उत्तराखंड में मॉनसून से जुड़े ताज़ा व ज़रूरी अपडेट्स न्यूज़18 पर जानिए.

उत्तराखंड में मॉनसून को लेकर कई तरह की खबरें चल रही हैं, लेकिन मौसम विभाग ने साफ कर दिया है कि तारीख थोड़ी सी टल गई है. इधर, पिछले साल अक्टूबर की आपदा के बाद कुछ इलाकों के लोग इसलिए डरे हुए हैं क्योंकि पिछले करीब 8 महीनों में बचाव के वो काम ही नहीं हुए, जो होने थे. देखें पूरी रिपोर्ट.

अधिक पढ़ें ...

नैनीताल. उत्तराखंड में अभी दो तीन गर्मी के बाद मॉनसून की आमद क़रीब है और इस बार पहाड़ में तो भारी बारिश के अलर्ट तक के आसार दिख रहे हैं. इधर, पहाड़ में प्री मॉनसून की बारिश के बाद से ही बड़ा खतरा लोगों को डराने लगा है. नैनीताल में लोग पिछली आपदा की भयावह तस्वीरें अब तक भूल नहीं सके हैं और अब अक्टूबर की आपदा के बाद राहत कार्य नहीं होने से ज़मीन, मकान व दुकानों पर बड़ा संकट दिखने लगा है. राज्य सरकार केन्द्र की तरफ टकटकी लगाए है, तो वहीं विपक्ष सरकार को घेरने में जुटा है.

दरअसल मॉनसून की आहट से ऐन पहले पहाड़ों में आपदा का खतरा भी बढ़ गया है. आपदा की तैयारियों के बीच पुराने ज़ख्म भरे नहीं जा सके हैं. नैनीताल के बेतालघाट, खैरना, गरमपानी समेत रामगढ़ और ओखलकांडा में फिर जल प्रलय का खतरा बना हुआ है. बाढ़ सुरक्षा के काम नहीं होने से ग्रामीणों में डर है, तो पहाड़ की लाइफलाइन अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ हाईवे टूटी सड़कों के बीच कभी भी बंद हो सकती है. इधर, मॉनसून की तैयारी कर रही सरकार को अब भी केन्द्र सरकार से बजट का इंतजार है.

उत्तराखंड के मुख्य सचिव एसएस संधू ने कहा कि आपदा प्रबंधन के लिए केंद्र सरकार से बजट की मंज़ूरी में समय लग रहा है. आपदा प्रबंधन के जो प्रस्ताव भेजे गए हैं, वो विभिन्न स्तरों पर हैं. उम्मीद है जल्द पैसा आएगा और काम शुरू हो सकेंगे. ग्राम प्रधान संगठन के सचिव शेखर दानी का कहना है कि आपदा से बने हालात जस के तस हैं. सरकार कोई काम अक्टूबर से अब तक नहीं कर सकी. इस बार तेज़ बारिश हुई तो कई लोग तबाह हो सकते हैं.

अधिकारियों को हेडक्वार्टर न छोड़ने की हिदायत

15 जून के बाद से ही पहाड़ में मॉनसून की तैयारियां हैं, तो प्री मॉनसून की बारिश ने खतरा बढ़ा दिया है. इसके लिए कुमाऊं कमिश्नर से लेकर डीएम तक ने अधिकारियों को आपदा के लिए तैयारी रखने के साथ ही बाढ़ चौकियों और वैकल्पिक व्यवस्थाओं के निर्देश दिए हैं. लाइट, पानी और राशन, दवा की व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने को कहा गया है. मॉनसून के दौरान मुख्यालय न छोड़ने की हिदायत भी दे दी गई है.

कांग्रेस ने लगाए बड़े आरोप

इस कवायद के अक्टूबर 2021 की आपदा के बाद के काम ही न होने पर कांग्रेस पार्टी बीजेपी सरकार को घेरने में लगी है. विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार अगर आपदा से बचाने के लिए पैसा ही नहीं जुटा पा रही तो लोग समझ सकते हैं कि यह सरकार कितनी गंभीर है. ‘लोग परेशान हैं और घर बहने की कगार पर हैं, लेकिन सरकार अब तक राहत और घर ही नहीं दे सकी, विस्थापन तो दूर की बात है.’

क्या कह रहे हैं मौसम के तेवर?

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश में 28 तारीख़ तक मॉनसून आ सकता है. उससे पहले 3 दिन यानी आज 25 जून से तापमान में बढ़ोत्तरी का दौर रहेगा. मैदानी ज़िलों में एक बार फिर 38 डिग्री तक तापमान जा सकता है, तो 26 और 27 को देहरादून, हरिद्वार, उधमसिंह नगर में गर्मी से परेशानी हो सकती है. सिंह के मुताबिक वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के चलते अब 28 तारीख तक मॉनसून आने के आसार हैं. पहले 25 या 26 जून के आसपास यह अनुमान लगाया गया था.

(देहरादून से भारती सकलानी के इनपुट्स के साथ)

Tags: Monsoon Update, Uttarakhand news, Weather news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर