Home /News /uttarakhand /

नैनीताल में जल संस्थान के कर्मचारी हड़ताल पर, बूंद-बूंद को तरसे ग्रामीण

नैनीताल में जल संस्थान के कर्मचारी हड़ताल पर, बूंद-बूंद को तरसे ग्रामीण

हड़ताल

हड़ताल के चलते गांवों में पानी की किल्लत हो गई है.

ग्रामीणों को करीब ढाई किलोमीटर की दूरी तय करके स्रोतों से पानी भरकर लाना पड़ रहा है.

    उत्तराखंड जल संस्थान संविदा श्रमिक संघ कुमाऊं मंडल का आंदोलन जारी है. इसके तहत जल संस्थान की नैनीताल शाखा में भी 5 सूत्रीय मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला गया है. जिसके चलते नैनीताल शहर व आसपास के कुछ गांवों में पानी की किल्लत होने लगी है. पेयजल की समस्या होने पर ग्रामीणों ने नाराजगी जाहिर की है.

    नैनीताल के भूमियाधार गांव में पानी की समस्या के चलते गांव के लोग परेशान हैं. पिछले कुछ दिनों से पानी नहीं आने की वजह से ग्रामीणों को करीब ढाई किलोमीटर की दूरी तय करके स्रोतों से पानी भरकर लाना पड़ रहा है.

    गांव की प्रधान अनीता बताती हैं कि इस गांव में करीब 300 परिवार रहते हैं. हड़ताल के चलते पानी नहीं आ रहा है, जिसकी वजह से दूर-दूर से पानी भरकर लाना पड़ रहा है. अनीता ने कहा कि अगर जल्द पानी की समस्या को दूर नहीं किया जाता है तो वह गांव की महिलाओं के साथ डीएम ऑफिस पर धरना देंगी.

    जल संस्थान श्रमिक संघ के कोषाध्यक्ष शंकर लाल आर्या ने बताया कि 20 से 25 साल से संस्थान के कर्मचारी कम मानदेय में काम कर रहे हैं और कम मानदेय के चलते कर्मचारियों के सामने आर्थिक समस्या खड़ी हो गई है. उनका कहना है कि प्रशासन को कई बार इसके लिए ज्ञापन सौंपा लेकिन उनकी सुध लेने को कोई तैयार नहीं है. इसी को लेकर संस्थान के कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार कर रखा है. कार्य बहिष्कार होने से नैनीताल के गांवों में पेयजल की समस्या पैदा हो गई है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर