Lockdown में सिर्फ शराब कारोबारियों को छूट क्यों? हाईकोर्ट ने मांगा राज्य सरकार से जवाब
Nainital News in Hindi

Lockdown में सिर्फ शराब कारोबारियों को छूट क्यों? हाईकोर्ट ने मांगा राज्य सरकार से जवाब
शराब कारोबारियों को टैक्स में छूट पर सरकार समेत अन्य पक्षकारों को हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है.

Lockdown के दौरान शराब कारोबारियों को छूट देने के मामले में दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए उत्तराखंड हाईकोर्ट (Uttarakhand High Court) ने राज्य सरकार को 3 हफ्ते में जवाब दाखिल करने का दिया आदेश.

  • Share this:
नैनीताल. कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान उत्तराखंड में शराब (Liquor) कारोबारियों को छूट देने पर राज्य सरकार निशाने पर आ गई है. उत्तराखंड हाईकोर्ट (Uttarakhand High Court) ने इस बाबत दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए सरकार से जवाब मांगा है. अदालत ने सरकार से पूछा है कि आखिर सरकार ने सिर्फ शराब कारोबारियों को ही छूट क्यों दी है और किन परिस्थितियों में दी? कोर्ट ने याचिका को लेकर नोटिस जारी करते हुए सरकार को 3 हफ्ते में जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है. दरअसल लॉकडाउन में राज्य सरकार ने शराब कारोबारियों को 196 करोड़ की टैक्स व लाइसेंस फीस में छूट दी थी. Fसके ख़िलाफ़ हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई है.

भेदभावपूर्ण रवैये का विरोध

नैनीताल हाईकोर्ट में दाखिल जनहित याचिका में कहा गया है कि लॉकडाउन में अन्य उद्योग धंधे और व्यावसायिक गतिविधियां भी बंद हो गए हैं. लेकिन सरकार ने सिर्फ़ शराब कारोबारियों को राहत दी, जबकि नुकसान सभी को उठाना पड़ा है. याचिका में कहा गया है कि सरकार का यह रवैया भेदभावपूर्ण है और उसकी दोहरी नीति को दर्शाता है.



गौरतलब है कि उत्तराखंड के इतिहास में पहली बार लॉकडाउन के दौरान दी गई छूट के बाद शराब कारोबारी हड़ताल पर गए थे. उनका कहना था कि Coronavirus की वजह से शराब की बिक्री कम हुई है, इसलिए उन्हें टैक्स में राहत दी जाए. शराब कारोबारियों से बातचीत के बाद राज्य सरकार ने उन्हें छूट देने का फैसला किया था.
 

 

आदेश के बावजूद खुली थीं दुकानें

आपको बता दें कि शराब को लेकर राज्य सरकार के ऊपर दोहरी नीति का आरोप पहले भी लगा था. दरअसल, कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने देहरादून में शनिवार-रविवार को सभी दुकानें बंद रखने का फैसला किया था. इसमें सिर्फ आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं को छूट दी गई थी. लेकिन दवा-दूध और सब्जी के साथ ही देहरादून में शराब की दुकानें भी खुली रही थीं. न्यूज 18 में इस बाबत खबर प्रकाशित होने के बाद देहरादून के जिलाधिकारी ने शनिवार-रविवार को शराब की दुकानें बंद रखने का आदेश जारी किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज