Facebook पर ठगी का शिकार हुए युवक को झील में कूदने से नैनीताल पुलिस ने बचाया
Nainital News in Hindi

Facebook पर ठगी का शिकार हुए युवक को झील में कूदने से नैनीताल पुलिस ने बचाया
ठगी के शिकार हुए युवक को आत्महत्या का किया प्रयास

सोशल मीडिया पर कई तरह के विज्ञापनों के जरिए लोग ठगी का शिकार हो जाते हैं उन्हीं में से एक नैनीताल के अभय मिश्रा ऑनलाइन ठगी के चलते इस कदर डिप्रेशन में आ गए कि उन्होंने आत्महत्या (suicide) का प्रयास कर डाला..

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नैनीताल. उत्तराखंड पुलिस की मुस्तैदी की वजह से गुरुवार को तेज बारिश के दौरान आत्महत्या (suicide) करने जा रहे युवक की जान बच गई. दरअसल गुरुवार को मालरोड नैनीताल सीतापुर आई अस्पताल (Sitapur Eye Hospital Nainital) परिसर में काम करने वाला अभय मिश्रा तल्लीताल (Tallital) पहुंचा और झील की रेलिंग को लांघकर झील में कूदने की कोशिश करने लगा. अभय झील में कूदता उससे पहले तल्लीताल थाने में तैनात दरोगा दीपक बिष्ट व उनके साथियों ने उसे पकड़ लिया. पुलिस के मुताबिक आत्महत्या करने के लिए पहुंचा युवक काफी मानसिक तनाव में था.

ठगी के चलते जान देना चाहता था अभय
अभय की जान बचाकर दरोगा दीपक बिष्ट उसको पुलिस चौकी ले आए और पूछताछ की. अभय ने पुलिस को बताया कि फेसबुक (Facebook ) पर उसने एक कैमरा देखा था जिसकी कीमत 12 हजार रुपये थी. कैमरा खरीदने के लिए फेसबुक पर ही अभय ने विक्रेता से सम्पर्क किया. विक्रेता ने गूगल-पे (google-pay) के माध्यम से पैसे मांगे तो अभय ने ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर (Online money transfer) भी कर दिए लेकिन अब विक्रेता न तो अभय को कैमरा भिजवा रहा है और ना ही पैसे वापस दे रहा है. अभय ने बताया कि पैसा डूबने और कैमरा ना आने पर वो मानसिक तनाव में था जिसके चलते वो अपनी जान देना चाहता था. हालांकि सब इंस्पेक्टर दीपक ने उसे समझाने-बुझाने के बाद उसके माता-पिता के साथ युवक को घर भेज दिया गया और साथ ही कोतवाली मल्लीताल को भी सूचना दे दी गई.

ठगों से रहे सावधान



अभय को बचाने के बाद तल्लीताल थाने के थानाध्यक्ष विजय मेहता ने कहा कि आज तो पुलिस के घटनास्थल से समीप होने के चलते अभय की जान बचाई जा सकी है लेकिन लोगों को ऐसे ठगों से खुद बचना चाहिए. प्रभारी निरीक्षक तल्लीताल मेहता ने कहा कि आए दिन फेसबुक, वाट्सअप समेत अन्य सोशल मीडिया के जरिए लोभ लुभावने ऑफर आते हैं और लोग लापरवाही के चलते बिना किसी जानकारी या नासमझी से उनके जाल में फंस जाते हैं. लोगों को ऐसे विज्ञापनों से बचना चाहिए ठगी का शिकार होने वाले व्यक्ति की मदद को पुलिस हमेशा तत्पर है मगर लोगों को जागरूक होना चाहिए.



ये भी पढ़ें- उत्तराखंड के किसान ने लगाया ऐसा धनिया कि अब Guinness Book of World Records में आया नाम
First published: June 5, 2020, 12:01 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading