Home /News /uttarakhand /

होटल व्‍यवसाय बढ़ेगा तो उत्‍तराखंड का होगा विकास: हरीश रावत

होटल व्‍यवसाय बढ़ेगा तो उत्‍तराखंड का होगा विकास: हरीश रावत

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को होटल व्यवसायियों से कहा कि वह उत्तराखंड की संस्‍कृति और सभ्‍यता को बढ़ावा देने के लिए आगे आएं, इससे पर्यटक यहां आकर्षित होंगे। भीमताल में आधुनिक सुविधाओं से लैस होटल के लोकार्पण के अवसर पर मुख्‍यमंत्री ने यह अपील की।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को होटल व्यवसायियों से कहा कि वह उत्तराखंड की संस्‍कृति और सभ्‍यता को बढ़ावा देने के लिए आगे आएं, इससे पर्यटक यहां आकर्षित होंगे। भीमताल में आधुनिक सुविधाओं से लैस होटल के लोकार्पण के अवसर पर मुख्‍यमंत्री ने यह अपील की।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को होटल व्यवसायियों से कहा कि वह उत्तराखंड की संस्‍कृति और सभ्‍यता को बढ़ावा देने के लिए आगे आएं, इससे पर्यटक यहां आकर्षित होंगे। भीमताल में आधुनिक सुविधाओं से लैस होटल के लोकार्पण के अवसर पर मुख्‍यमंत्री ने यह अपील की।

अधिक पढ़ें ...
मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को होटल व्यवसायियों से कहा कि वह उत्तराखंड की संस्‍कृति और सभ्‍यता को बढ़ावा देने के लिए आगे आएं, इससे पर्यटक यहां आकर्षित होंगे। भीमताल में आधुनिक सुविधाओं से लैस होटल के लोकार्पण के अवसर पर मुख्‍यमंत्री ने यह अपील की।

उन्‍होंने इसपर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि पहाड़ की लोक संस्कृति, लोकगीत वाद्य यन्त्र, हस्तशिल्प आज के दौर में हाशिए पर आ गया है। उन्‍होंने कहा कि होटल व्यवसाय से उत्तराखण्ड राज्य के विकास में सहयोग करने का हमे संकल्प लेना होगा।

प्रदेश सरकार ने चारधाम यात्रा पूरे साल के लिए शुरू कर दिया है। हम यात्राओं को सुगम बनाने की दिशा में प्रयास कर रहे हैं। हमारा प्रयास है कि 2012 में जितने पर्यटक आए थे, उसमें से कम से कम 80 फीसदी वापस उत्तराखण्ड को वापस लौटे।

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि प्रदेश सरकार मेलों के माध्यम से पर्यटन विकास की दिशा में भी रणनीति तैयार कर रही है। प्रदेश भर में विभिन्न स्थानों पर वर्ष भर में आयोजित होने वाले सांस्कृतिक एवं धार्मिक मेलों का कैलेंडर और समय सारणी तैयार की जा रही है। जिसे राष्ट्रीय एवं अंतरराष्‍ट्रीय स्तर पर ख्यापित किया जाएगा, ताकि दुनिया के दूर-दराज के इलाकों में इन मेंलो की जानकारी पर्यटकों को मिल सकें और वह उत्तरखण्ड का रुख करें।

प्रदेश सरकार ने पर्यटन विकास के लिए साहसिक खेलों और रिवर राफ्टिंग को भी पर्यटन को जरिया बनाया है। उन्‍होंने स्थानीय लोगों और होटल व्यवसायियों से कहा कि वह भीमताल, नैनीताल, नौकुचियाताल, सातताल व अन्य झीलों में साहसिक खेलों का आयोजन कराएं या उससे संबंधित प्रस्ताव सरकार को भेजे। ऐसे आयोजनों को भी सरकार आर्थिक सहायता प्रदान करेगी।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

Tags: Harish rawat

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर