Home /News /uttarakhand /

अब ऑनलाइन मिलेंगे नारी निकेतन में बने उत्पाद

अब ऑनलाइन मिलेंगे नारी निकेतन में बने उत्पाद

    नारी निकेतन के विवादों को देखते हुए शासन ने नारी निकेतन के नाम को ही बदल दिया है अब नारी निकेतन का नाम महिला किशोर-किशोरी कल्याण केन्द्र कर दिया है.

    बीते साल नम्बर माह मे नारी निकेतन में हुए यौन शौषण और संवासिनियों की मौत को देखते हुए सरकार ने नारी निकेतन के नाम को बदल दिया है साथ ही अब कल महिला किशोर-किशोरी कल्याण केन्द्र में संवासिनियों के खाने के लिए एक मैन्यू तैयार किया गया है.

    सप्ताह के सातों दिन संवासिनियों के लिए पौष्ठिक आहार बनाए जा रहे हैं. सरकार ने संवासिनियों के खाने के भत्ते के 1600 रुपए से बढ़कर 3000 रुपए कर दिया है. इतना ही नहीं संवासिनियों को आत्म निर्भर बनाने के लिए उन्हें कई प्रशिक्षण भी दिए जा रहे हैं.

    मिसाल के तौर पर कहा जा सकता है कि अब कल्याण केन्द्र की काया को बदलते हुए सरकार संवासिनियों को स्वावलम्बी बनाने की दिशा में काम कर रही है, जिसके तहत उन्हें सिलाई कढ़ाई बुनाई का भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिससे वह कल्याण केन्द्र से निकालने के बाद खुद का काम शुरु कर सकेंगे.

    सचिव समाज कल्याण भूपेन्द्र कौर औलख का कहना है कि महिला किशोर किशोरी कल्याण केन्द्र को हाईटेक बनाया जा रहा है. संवासिनियों के बनाए सामानों की ऑनलाइन बिक्री की कोशिशि की जा रही है. इसके लिए केन्द्र सरकार भी मदद कर रही है. कल्याण केन्द्र में कुल 122 संवासिनियां रहती है, जिसमें 102 मानसिक रूप से कमजोर है, जिसमें 20 स्वास्थ्य संवासिनी है. जबकि आठ संवासिनी नाबालिग हैं दूसरी तरह 3 नेपाल, 2 बांग्लादेश और 1 संवासिनी म्यांमार की रहने वाली हैं.

    अधिकारियों को कहना है कि सभी संवासिनियों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी जुटाई जा रही है. जिससे उन्हें घर भेजा जा सके. इस तरह से संवासिनियों के बेहतरी के लिए समाज कल्याण विभाग का कर रहा है, जबकि जब समाज कल्याण सचिव ने कल्याण केन्द्र का जायजा लिया तो एक संवासिनी ने बहुत ही तल्ख तेवर के साथ अधिकारियों के सुरक्षा कर्मियों की शिकायत की.

    तत्काल सचिव ने होगगार्ड की हटाने के आदेश दिए. कल्याण केन्द्र में सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं जिससे कर्मियों के साथ संवासिनियों की निगरानी की जा सके. फिलहाल अब संवासिनियों के सामानो की ऑनलाइन बिक्री होगी. इसको लेकर समाज कल्याण विभाग ने कवायद तेज कर दी है यानी संवासिनियों को अपने जीवन स्तर को सुधारने का भी मौका मिलेगा.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर