• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • गढ़वाल में दुर्गम इलाकों के स्कूलों में जल्द नियुक्त होंगे 649 शिक्षक

गढ़वाल में दुर्गम इलाकों के स्कूलों में जल्द नियुक्त होंगे 649 शिक्षक

गढ़वाल मंडल में जल्द नियुक्त होंगे 649 शिक्षक

गढ़वाल मंडल में जल्द नियुक्त होंगे 649 शिक्षक

उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग से चयनित 649 शिक्षकों को काउंसलिंग के बाद चरणबद्ध तरीके से नियुक्ति दी जा रही है. इससे पर्वतीय इलाकों में शिक्षकों की कमी जल्द ही पूरी हो सकेगी.

  • Share this:
उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में काफी अरसे से रिक्त पड़े एलटी शिक्षकों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है. उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग से चयनित 649 शिक्षकों को काउंसलिंग के बाद चरणबद्ध तरीके से नियुक्ति दी जा रही है. इससे पर्वतीय इलाकों में शिक्षकों की कमी जल्द ही पूरी हो सकेगी. बता दें कि 2017 ने निकाली गई विज्ञप्ति में कुल 694 शिक्षकों की नियुक्ति के लिए आवेदन मांगे गए थे. जिसमें से कुल 649 अभ्यर्थी चयनित हुए.

शिक्षा विभाग को प्रथम चरण में मिले 271 कैंडिडेट्स में से 80 फीसदी की नियुक्ति क्षेत्र के दुर्गम स्थानों के स्कूलों में दे दी गई है.  करीब 50 शिक्षकों की नियुक्ति अभी इसलिए नहीं हो पाई क्योंकि दुर्गम क्षेत्र में विभाग के पास रिक्ती नहीं थी. इस वजह से शिक्षा विभाग शेष पदों पर नियुक्ति के लिए देहरादून स्थित निदेशालय में प्रस्ताव भेजा है.

दूसरे चरण में पौड़ी स्थित निदेशालय में आयोग द्वारा चयनित 378 कैंडिडेट्स की काउंसलिंग और दस्तावेजों की जांच अब अंतिम चरण में है. इस चरम में अधिकांश व्यायाम और विज्ञान के शिक्षक हैं. अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल महावीर सिंह बिष्ट का कहना है कि दूसरे चरण में मिले शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया अंतिम दौर में है और जल्द ही इनकों भी गढ़वाल मंडल के दुर्गम विद्यालयों में नियुक्ति दे दी जाएंगी. उनका कहना है कि एलटी शिक्षकों की नियुक्ति से विशेषतौर पर पर्वतीय क्षेत्रों के दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्रों में शिक्षकों की कमी झेल रहे छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल सकेगी.

ये भी पढ़ें- शिक्षा विभागः जो नौकरी में हैं वह भी परेशान, जो बाहर हैं वह भी

 

 

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज