लाइव टीवी

2017 में ओडीएफ़ घोषित दुगड्डा में दर्जन भर घरों में शौचालय हैं ही नहीं... खोह नदी में गिराया जा रहा गंद

Anupam Bhardwaj | News18 Uttarakhand
Updated: December 16, 2019, 11:59 AM IST
2017 में ओडीएफ़ घोषित दुगड्डा में दर्जन भर घरों में शौचालय हैं ही नहीं... खोह नदी में गिराया जा रहा गंद
दुगड्डा में एक दर्जन से भी ज़्यादा घरों में शौचालय बने ही नहीं हैं और दो-ढाई दर्जन घर ऐसे हैं जिनमें शौचालय तो हैं लेकिन वह लगातार अपना गंद खोह नदी में डाल रहे हैं.

ऐसे सभी घरों को दो नोटिस जारी किए जा चुके हैं. उन्हें एक नोटिस और जारी किया जाएगा उसके बाद कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
कोटद्वार. शहर से लगते दुगड्डा (dugadda) क्षेत्र को साल 2017 में ओडीएफ़ (odf) घोषित किया जा चुका है लेकिन सच्चाई इसके उलट है. यहां एक दर्जन से भी ज़्यादा घरों में शौचालय (toilet) बने ही नहीं हैं और दो-ढाई दर्जन घर ऐसे हैं जिनमें शौचालय तो हैं लेकिन वह लगातार अपना गंद खोह नदी (khoh river) में डाल रहे हैं. खोह नदी कोटद्वार और आस-पास के क्षेत्रों के लिए सिंचाई और पेयजल का प्रमुख स्रोत है. अब दुगड्डा नगर पालिका ऐसे घरों को नोटिस जारी कर दिया है.

डेढ़ हज़ार घर 

कभी दुगड्डा ही क्षेत्र का प्रमुख बाज़ार और गढ़वाल के पहाड़ों पर जाने का प्रमुख पड़ाव हुआ करता था. कोटद्वार तक ट्रेन आने के बाद स्थिति बदल गई और धीरे-धीरे बाज़ार कोट्दवार में आ गया और कोटद्वार बड़े कस्बे के रूप में विकसित हो गया.

दुगड्डा में करीब डेढ़ हज़ार घर हैं. नगर पालिका के अनुसार इनमें से तीन-साढ़े तीन दर्जन घर ऐसे हैं जो खोह नदी को मैला कर रहे हैं. दुगड्डा नगर पालिका के ईओ हर्षवर्द्धन सिंह के अनुसार दुगड्डा क्षेत्र में एक दर्जन घरों में आज भी शौचालय नहीं है. दूसरी ओर कई घर ऐसे हैं जिनमें शौचालय तो हैं लेकिन फिर भी वह खोह नदी में गंद गिरा रहे हैं.

नोटिस जारी 

हर्षवर्द्धन सिंह बताते हैं कि दो-ढाई दर्जन घरों ने शौचालयों में सोक पिट बहुत छोटे बनाए हैं जो बहुत जल्दी भर जाते हैं. ऐसे घरों से सोक पिट की गंदगी खोह नदी में डाली जा रही है. ऐसे सभी घरों को दो नोटिस जारी किए जा चुके हैं. उन्हें एक नोटिस और जारी किया जाएगा उसके बाद कार्रवाई की जाएगी.

सिंह के अनुसार नगर पालिका के पास अब अपने सोक पिट मौजूद हैं और घरों से सोक पिट खाली करवाकर उनका ट्रीटमेंट किए जाने का इंतज़ाम है. लोगों को यह समझाया भी जा रहा है कि वह खोह नदी को गंदा न करें जो कोटद्वार और आस-पास के क्षेत्रों के लिए सिंचाई और पीने के पानी का प्रमुख स्रोत है.ये भी देखें: 

ऋषिकेश में झूठे साबित हो रहे ODF राज्य के दावे, गंगा किनारे खुले में शौच कर रहे लोग

VIDEO: झूठे साबित हो रहे रुद्रप्रयाग को ODF घोषित करने के दावे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पौड़ी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 11:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर