पुरानी पेंशन बहाली को लेकर पौड़ी में निकाला गया कैंडल मार्च

उत्तराखंड के जिला मुख्यालय पौड़ी में पुरानी पेंशन बहाली को लेकर बीते शनिवार को जिले के संयुक्त कर्मचारियों द्वारा कैंडल मार्च निकाला गया.

shailender bhandari | News18 Uttarakhand
Updated: September 16, 2018, 12:19 PM IST
पुरानी पेंशन बहाली को लेकर पौड़ी में निकाला गया कैंडल मार्च
पुरानी पेंशन बहाली को लेकर कर्मचारियों ने निकाला कैंडल मार्च
shailender bhandari | News18 Uttarakhand
Updated: September 16, 2018, 12:19 PM IST
उत्तराखंड के जिला मुख्यालय पौड़ी में पुरानी पेंशन बहाली को लेकर बीते शनिवार को जिले के संयुक्त कर्मचारियों द्वारा कैंडल मार्च निकाला गया. कर्मचारियों ने कैंडल मार्च डीएम कार्यालय से धारा रोड होते हुए बस अड्डे तक निकाला, जहां पर कर्मचारियों ने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया.

कर्मचारियों का कहना है कि साल 2005 के बाद बंद की गई पेंशन से पूरे प्रदेश के कर्मचारियों में आक्रोश व्याप्त है. ऐसे में कर्मचारियों ने प्रदेश की त्रिवेंद्र सरकार के पूछा है कि अगर विधायक और सांसद को पेंशन मिल सकती है तो कर्मचारियों को क्यों नहीं ?

मामले में राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली मंच के संयोजक जयदीप रावत का कहना है कि सरकार से उनकी सिर्फ एक सूत्री मांग है, जिसमें पुरानी पेंशन बहाली को लेकर उन्होंने मांग की है. उन्होंने कहा कि ये मांग शिक्षकों की है, जिन्हें अक्टूबर 2005 के बाद नई पेंशन लागू कर दी गई. उन्होंने इस नयी पेंशन योजना का न तो कोई रखरखाव है और ना ही उसका कोई भविष्य है. इसलिए उन्होंने एक सूत्री मांग पुरानी पेंशन को फिर से बहाल करने को लेकर पूरे प्रदेश में कैंडल मार्च निकाला.

वहीं कर्मचारी सीताराम पोखरियाल ने कहा कि कैंडल मार्च का कार्यक्रम पूरे उत्तराखंड प्रदेश में रखा गया. इसी के साथ उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार से ये अनुरोध किया है कि साल 2005 के बाद चयनित हुए कर्मचारियों को पुरानी पेंशन का ही लाभ दिया जाए.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर