Home /News /uttarakhand /

मौसम के बदलते मिजाज के अस्पतालों में बढ़ रही मरीजों की संख्या

मौसम के बदलते मिजाज के अस्पतालों में बढ़ रही मरीजों की संख्या

पौड़ी जिले में लगातार बदलते मौसम के मिजाज के चलते बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा हैं. जिससे अस्पतालों में मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं.

पौड़ी जिले में लगातार बदलते मौसम के मिजाज के चलते बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा हैं. जिससे अस्पतालों में मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं.

पौड़ी जिले में लगातार बदलते मौसम के मिजाज के चलते बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा हैं. जिससे अस्पतालों में मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं.

    पौड़ी जिले में लगातार बदलते मौसम के मिजाज के चलते बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा हैं. जिससे अस्पतालों में मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं.

    कभी ठंड तो कभी गर्मी के कारण लोगों को बुखार और मलेरिया जैसी बीमारियों से गुजरना पड़ रहा हैं. जिस कारण लोगों का बुरा हाल हैं. अगर बात करे जिला अस्पताल पौड़ी की तो यहां पर 100 से 150 मरीज मौसम परिवर्तन के चलते बीमार पड़ रहे हैं.

    वहीं जिला स्वास्थ्य विभाग की माने तो मौसम के बदलते मिजाज के चलते मरीजों में हर दिन वृद्धि हो रही हैं जिसका मुख्य कारण दिन में गर्मी और शाम को ठंड़ी हवा चलना हैं. फिलहाल उनका कहना हैं कि मौसम को देखते हुये स्वास्थ्य विभाग ने भी अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं.

    अस्पतालों में दिन पर दिन बढ़ रही मरीजों की संख्या से इन दिनों अस्पताल में दो  दिन पहले से ही पर्चा तैयार करना पड़ रहा हैं. अस्पताल में मरीजों का ईलाज कर रहे डॉक्टरों की माने तो एक दिन में 500 से 600 मरीज को हर रोज देखा जा रहा हैं जो इन दिनों मौसम परिवर्तन के कारण बीमार हो रहे हैं.

    जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर विनोद कुमार का कहना हैं कि अधिकांश मरीज बुखार और जूखाम से पीड़ित अस्पताल पहुंच रहा हैं. जिसको अस्पताल पहुंचने के बाद पूरा उपचार किया जा रहा हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि बीमारी की जड़ गंदा पानी भी हो सकता हैं जिस कारण ग्रामीण क्षेत्रों से भी लोग ज्यादा पहुंच रहे हैं.

    Tags: Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर