आनंद सिंह बिष्ट की यादें: लोग रामायण देख सकें, इसलिए गांव में खरीदा था पहला TV
Pauri-Garhwal News in Hindi

आनंद सिंह बिष्ट की यादें: लोग रामायण देख सकें, इसलिए गांव में खरीदा था पहला TV
सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह ने सोमवार सुबह एम्स दिल्ली में अंतिम सांस ली. (फाइल फोटो)

वर्ष 1987-88 के बीच दूरदर्शन पर आने वाले इस धार्मिक धारावाहिक को देखने के लिए उस समय लोगों में काफी उत्साह रहता था. लेकिन पौड़ी जिले के पंचूर गांव में किसी के पास टीवी नहीं था. यह देख आनंद सिंह बिष्ट (Anand Singh Bisht) अपने गांव में पहला टीवी खरीदकर लाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 1:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath)  के पिता आनंद सिंह बिष्ट (Anand Singh Bisht) का आज दिल्ली के एम्स में निधन हो गया. उत्तराखंड के पौड़ी जिले के पंचूर गांव के निवासी आनंद सिंह बिष्ट की पहचान उनकी सामाजिक कार्यों के प्रति रुचि को लेकर रही है. वन विभाग में काम करने वाले आनंद सिंह बिष्ट के बारे में बताया जाता है कि दशकों पहले दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले रामायण सीरियल को उनके गांव के लोग भी देख सकें, इसके लिए वह टीवी खरीदकर लाए थे. वर्ष 1987-88 के बीच दूरदर्शन पर आने वाले इस धार्मिक धारावाहिक को देखने के लिए उस समय लोगों में काफी उत्साह रहता था. लेकिन पौड़ी जिले के पंचूर गांव में किसी के पास टीवी नहीं था. यह देख आनंद सिंह बिष्ट अपने गांव में पहला टीवी खरीदकर लाए, ताकि वहां के लोग मर्यादा पुरुषोत्तम राम के जीवन पर बना यह टीवी धारावाहिक देख सकें.

Y श्रेणी की सुरक्षा मिलने पर भी जीते थे सामान्य जीवन
आनंद सिंह बिष्ट उत्तराखंड में फॉरेस्ट रेंजर के पद पर काम करते थे. बेटे योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने अंग्रेजी पत्रिका द वीक के साथ बातचीत में सीएम योगी के जीवन से जुड़ी कई बातें साझा की थीं. जब योगी आदित्यनाथ ने वर्ष 2017 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद को संभाला, उसके बाद आनंद सिंह बिष्ट और उनके परिवार को सरकार की ओर से Y श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी. सुरक्षा के भारी ताम-झाम के बावजूद आनंद सिंह बिष्ट और उनका परिवार सामान्य जीवन ही जीता था. आडंबर और दिखावे से दूर इस परिवार की जीवन शैली को देखकर कोई नहीं कह सकता था कि इसका एक सदस्य देश के बड़े राज्यों में शुमार यूपी का मुख्यमंत्री और बीजेपी का दिग्गज नेता है.

बेटे के योगी बनने की खबर मिलते ही पहुंचे थे गोरखपुर
नाथ संप्रदाय में आने से पहले यूपी के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी शिक्षा उत्तराखंड में ही हासिल की थी. कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही वे नाथ संप्रदाय के संपर्क में आए. महज 22 साल की उम्र में अजय सिंह बिष्ट से योगी आदित्यनाथ हो गए, लेकिन परिवार को इसकी खबर नहीं दी. द वीक पत्रिका की रिपोर्ट के मुताबिक जब पिता आनंद सिंह बिष्ट को पुत्र के नाथ संप्रदाय में योगी बनने के बारे में जानकारी हुई, तो वे फौरन गोरखपुर पहुंचे. यहां अपने बेटे को भगवा वेश में देख हैरान रह गए. द वीक के साथ बातचीत में आनंद सिंह बिष्ट ने यादें साझा करते हुए कहा था कि उनके बेटे की हमेशा से इच्छा रही है कि वह समाज सेवा के क्षेत्र में काम करे. योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद आनंद सिंह बिष्ट ने कहा कि उन्हें अपने बेटे पर गर्व है.



ये भी पढ़ेंः UP के सीएम योगी आदित्‍यनाथ के पिता का निधन, AIIMS में चल रहा था इलाज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज