10 नहीं आधा लीटर दूध दे रही हैं सरकार से मिली गाय, किसान कह रहे- वापस ले लो

किसानों का कहना है कि ये गाय सिर्फ़ आधा लीटर ही दूध दे रही हैं और ये स्वस्थ भी नहीं हैं. कुछ गाय बीमार हैं तो कुछ इतनी बूढ़ी हैं कि दूध देने लायक ही नहीं है.

News18 Uttarakhand
Updated: August 17, 2018, 1:27 PM IST
News18 Uttarakhand
Updated: August 17, 2018, 1:27 PM IST
राज्य सरकार की ओर से हज़ार-हज़ार रुपये में  दी गई गाय दुग्ध उत्पादकों के लिए गले की हड्डी बन गई हैं. सेना के डेयरी फार्म से मिलीं ये गाय इतना कम दूध दे रही हैं कि किसानों के होश उड़ गए हैं. डेयरी बनाने पर हज़ारों रुपये खर्च कर चुके किसान सरकार से इन गायों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. किसानों की आय दोगुनी करने की सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के तहत दुग्ध विकास विभाग ने किसानों को सिर्फ़ पांच हज़ार रुपये में पांच गाय देने का ऐलान किया था. इनमें से दो दुधारू गाय होनी थी, दो गाभिन गाय और बछिया.

दुग्ध विकास मंत्री धन सिंह रावत ने इस योजना को किसानों की जिंदगी बदलने वाली योजना बताया था. उन्होंने दावा किया था कि दुधारू गाय रोज़ 10 से 20 लीटर दूध देगी. लेकिन कोटद्वार के उदयरामपुर नयावाद गांव के किसानों की मानें तो हुआ इसका उल्टा.

किसानों का कहना है कि ये गाय सिर्फ़ आधा लीटर ही दूध दे रही हैं और ये स्वस्थ भी नहीं हैं. कोई गाय बीमार है, तो किसी के पैर, किसी के थन खराब हैं. कुछ गाय इतनी बूढ़ी हैं कि दूध देने लायक ही नहीं है. और तो और सरकार के दावों के विपरीत दो दुधारू गाय भी सबको नहीं मिल हैं न ही दो गाभिन गाय. उनकी जगह कहीं दूध न देने वाली गाय पकड़ा दी गई है और कहीं बछिया.

गांव के किसान तो यह तक कह रहे हैं कि पशु चिकित्सक तक आकर इन गायों को ख़ारिज कर चुके हैं. उनका कहना है कि ये गाय दूध देने लायक ही नहीं हैं. अब किसान मांग कर रहे हैं कि सरकार अपनी गायों को वापस ले जाए और उनका पैसा वापस कर दे.

समस्या उन किसानों के लिए और बड़ी है जिन्होंने गायों को रखने के लिए अलग से गौशाला का निर्माण कराया. और सोचा कि जब गाय दूध देगी तो सारा खर्च वसूल हो जाएगा. पांच गायों को बरेली से लाने और उनके लिए गौशाला समेत दूसरी व्यवस्थाएं करने में हजारों रुपये भी खर्च किए. लेकिन अब उन्हें यह चिंता सताने लगी है कि इन गायों का क्या करें, इन पर कब तक ख़र्च करते रहें.

कुछ परेशान किसान तो यह तक कह रहे हैं कि सरकार उनकी आय दोगुनी करने की बातें बंद कर दे और उनके अपने हाल पर छोड़ दे. सरकार की ऐसी योजनाओं से तो उनकी हालत और ख़राब हो रही है.

(अनुपम भारद्वाज की रिपोर्ट)
Loading...
VIDEO: नदी के बीच में फंसी गाय को निकालने में जुटे स्थानीय

VIDEO: दुग्ध विकास मंत्री नहीं जानते किस नस्ल की गाय बांट रहा है विभाग

प्रदेश में दुग्ध क्रांति लाने के लिए व्यापक अभियान चलाया जाएगाः धन सिंह
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर