Uttarakhand: कोरोना से मचा हाहाकार! पौड़ी गढ़वाल के कोटद्वार और स्वर्गाश्रम क्षेत्र में कर्फ्यू का ऐलान

कोटद्वार और स्वर्गाश्रम क्षेत्र में लगा कर्फ्यू. (सांकेतिक फोटो)

कोटद्वार और स्वर्गाश्रम क्षेत्र में लगा कर्फ्यू. (सांकेतिक फोटो)

उत्तराखंड सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार और स्वर्गाश्रम क्षेत्र (Kotdwar and Swargashram) में 3 मई तक कर्फ्यू लगाने का ऐलान कर दिया है.

  • Share this:
पौड़ी गढ़वाल. उत्तराखंड में कोरोना वायरस का कहर जारी है और अब इसकी जद में धीमे-धीमे दूरदराज के जिले भी अपने लगे हैं. यही वजह है कि उत्तराखंड सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार और स्वर्गाश्रम क्षेत्र (Kotdwar and Swargashram) में कर्फ्यू लगाने का ऐलान कर दिया है. यह कर्फ्यू (Curfew) आज यानी 26 अप्रैल से 3 मई तक के लिए लगाया गया है.

बता दें कि पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार और स्वर्गाश्रम क्षेत्र (Kotdwar and Swargashram) में कर्फ्यू आज शाम 7 बजे से 3 मई की सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा.

इस बीच राज्‍य की राजधानी देहरादून में भी लगातार संक्रमण के मामले देखते हुए जिला प्रशासन ने कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) की अवधि 26 अप्रैल से बढ़ाकर 3 मई तक कर दी है. देहरादून के डीएम ने इस बाबत आदेश जारी कर दिए हैं. प्रशासन के आदेश के मुताबिक देहरादून में 26 अप्रैल की शाम 7 बजे से लेकर 3 मई के सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. इस दौरान निजी वाहनों का आवागमन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा. आदेश के तहत ऋषिकेश नगर निगम, छावनी परिषद गढ़ी कैंट, क्लेमन्टाऊन इलाकों में लोगों की आवाजाही पर पाबंदी होगी.

Youtube Video

बता दें कि उत्तराखंड में कोरोना से हालात काफी खराब हो गए हैं और सीएम तीरथ सिंह रावत के मंत्री हरक सिंह रावत का कहना है कि यह हकीकत है कि अस्पताल ओवरलोड हो गये हैं. आम आदमी का ऐसे में क्या हाल हो रहा होगा यह सोचने वाली बात है. उन्होंने कहा कि स्थिति बेहद गंभीर है, उत्तराखंड जैसे छोटे से राज्य में एक दिन में पांच हजार कोविड पॉजिटिव मरीजों का आना चिंता का विषय है. इसी वजह से राज्‍य में टोटल लॉकडाउन लगा देना चाहिए.

ऑक्सीजन या रेमडेसिविर की कालाबाजारी रोकने के लिए नंबर जारी

उत्तराखंड में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए पिछले साल की ही तरह पुलिस अब एक बार फिर आगे आई है. उत्तराखंड पुलिस ने कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल होने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन और अन्य जीवन रक्षक दवाओं के साथ-साथ ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए एक मोबाइल नंबर 9411112780 जारी किया है. इस मोबाइल नंबर पर फोन करके आप दवाओं की कालाबाजारी करने वालों को पुलिस से पकड़वा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज