Home /News /uttarakhand /

श्रीनगर गढ़वाल में खत्‍म हुआ गुलदार का आतंक

श्रीनगर गढ़वाल में खत्‍म हुआ गुलदार का आतंक

श्रीनगर गढ़वाल के निकट कीर्तिनगर ब्लॉक के सेमा गांव में लम्बे समय से दहशत का पर्याय बना गुलदार आखिरकार पिंजरे में कैद हो गया। ग्रामीणों की मांग पर वन विभाग द्वारा गांव में लगाए गए पिंजरे में गुलदार के फंसने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

श्रीनगर गढ़वाल के निकट कीर्तिनगर ब्लॉक के सेमा गांव में लम्बे समय से दहशत का पर्याय बना गुलदार आखिरकार पिंजरे में कैद हो गया। ग्रामीणों की मांग पर वन विभाग द्वारा गांव में लगाए गए पिंजरे में गुलदार के फंसने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

श्रीनगर गढ़वाल के निकट कीर्तिनगर ब्लॉक के सेमा गांव में लम्बे समय से दहशत का पर्याय बना गुलदार आखिरकार पिंजरे में कैद हो गया। ग्रामीणों की मांग पर वन विभाग द्वारा गांव में लगाए गए पिंजरे में गुलदार के फंसने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

अधिक पढ़ें ...
श्रीनगर गढ़वाल के निकट कीर्तिनगर ब्लॉक के सेमा गांव में लम्बे समय से दहशत का पर्याय बना गुलदार आखिरकार पिंजरे में कैद हो गया। ग्रामीणों की मांग पर वन विभाग द्वारा गांव में लगाए गए पिंजरे में गुलदार के फंसने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

गुलदार पूर्व में सेमा गांव में 12 वर्षीय बच्ची समेत 50 वर्षीय एक व्यक्ति पर हमला कर उन्हें घायल कर चुका था। वन विभाग ने पकड़े गए गुलदार को राजाजी राष्ट्रीय पार्क में छोड़ दिया है। पिंजरे में कैद हुए गुलदार को देखने बड़ी संख्या में भीड़ मौके पर जुटी।

इस दौरान पिंजरे में कैद गुलदार के तेवरों ने मौजूद लोगों को भयभीत कर दिया। गुलदार के पिंजरे में कैद होने की सूचना पर माणिकनाथ वन रेंज के वन क्षेत्राधिकारी के.एस रावत ने अपने पूरे अमले के साथ गुलदार को ले जाकर राजाजी राष्ट्रीय पार्क छोड़ा।

फोटो: कीर्तिनगर ब्लाक के सेमा गांव में पिंजरे में फंसा गुलदार।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर