Home /News /uttarakhand /

कावड़ यात्रा 2018 : डॉक्टरों की कमी से श्रद्धालुओं को हो सकती है परेशानी

कावड़ यात्रा 2018 : डॉक्टरों की कमी से श्रद्धालुओं को हो सकती है परेशानी

अस्पताल में डाक्टरों के स्वीकृत 27 पदों में से 9 पद रिक्त हैं. अस्पताल में डाक्टरों के साथ ही मेडिकल स्टाफ की संख्या भी काफी कम है.

जुलाई माह की 28 तारीख से शुरू होने वाली कावड़ यात्रा में ऋषिकेश के राजकीय चिकित्सालय का अहम योगदान रहता है. कावड़ यात्रा के दौरान प्रतिदिन सैकड़ों की तादात में मरीज राजकीय अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचते हैं. कावड़ यात्रा में हर वर्ष सावन के महीने में 50 लाख कावड़ श्रद्धालु ऋषिकेश से होते हुए विश्वप्रसिद्ध नीलकण्ठ धाम में जलाभिषेख के लिएजाते हैं. ज्यादातर कावड़ यात्री लक्ष्मणझुला से नीलकण्ठ तक पैदल यात्रा करते है.

ऐसे में पूरे सावन के महीने भारी संख्या में कावड़ श्रद्धालुओं के लिए स्वास्थ्य सेवाऐं उपलब्ध करवाने में ऋषिकेश के शान्ति प्रपन्न भटट राजकीय चिकित्सालय का अहम योगदान रहता है, लेकिन अस्पताल में कावड़ यात्रा के समय भी डाक्टरों का टोटा बना है.

अस्पताल में डाक्टरों के स्वीकृत 27 पदों में से 9 पद रिक्त हैं. अस्पताल में डाक्टरों के साथ ही मेडिकल स्टाफ की संख्या भी काफी कम है. ऐसे में अब अस्पताल के प्रभारी सीएमएस यूएस खरोला भी मानते हैं कि अस्पताल में स्टाफ की कमी है. जिसके कारण कावड़ यात्रा के दौरान भी उन्हें सीमित संसाधन में ही काम करना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें -

परिवहन विभाग ने 60 पुरानी बसों को दिखाया बाहर का रास्ता

सोशल मीडिया पर शेयर की गलत पोस्ट तो जाना पड़ सकता है जेल

Tags: Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर