लाइव टीवी

मंदाकिनी और सरस्वती के रुख बदलने से सुरक्षित हुआ केदारनाथ धाम

Sunil Dhoundiyal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 17, 2015, 6:07 PM IST
मंदाकिनी और सरस्वती के रुख बदलने से सुरक्षित हुआ केदारनाथ धाम
केदारपुरी अब मंदाकिनी और सरस्वती नदी के रुख बदले जाने से पहले से ज्यादा सुरक्षित हो गई है.

केदारपुरी अब मंदाकिनी और सरस्वती नदी के रुख बदले जाने से पहले से ज्यादा सुरक्षित हो गई है.

  • Share this:
केदारपुरी अब मंदाकिनी और सरस्वती नदी के रुख बदले जाने से पहले से ज्यादा सुरक्षित हो गई है.

नेहरू पर्वतारोहण संस्थान पिछले लम्बे समय से नदियों का रुख बदलने के काम में जुटा था जो करीब-करीब पूरा हो चुका है. 2013 की आपदा से केदारपुरी बुरी तरह प्रभावित हुई थी और नदियों का रूख मंदिर के दोनों ओर होने से मंदिर परिसर को भी असुरक्षित महसूस किया जा रहा था.

दरअसल, मंदिर की दोनों दिशाओं में मंदाकिनी और सरस्वती का बहाव जारी था जो ज्यादा बारिश होने के दौरान मंदिर परिसर के लिए खतरा पैदा कर सकता था. अब नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) दोनों नदियों का बहाव मंदिर की बाईं दिशा में डायवर्ट किया है.

निम ने मंदिर परिसर के बाईं ओर भारी बोल्डर हटाकर और पहाड़ी को काटकर नदियों के लिए सुरक्षित रुख तैयार किया है, इसी रास्ते से अब मंदाकिनी और सरस्वती नदियां बह रही हैं. केदारनाथ मंदिर परिसर को ज्यादा सुरक्षित करने और नदियों के बहाव से इस क्षेत्र को बचाने के लिए त्रिस्तरीय दीवारों का निर्माण भी नेहरू पर्वतारोहण संस्थान को ही करना है.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पौड़ी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2015, 5:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर