Home /News /uttarakhand /

अगले साल नए स्वरूप में दिखेगी सम्राट भरत की जन्मस्थली कण्वाश्रम: सतपाल महाराज

अगले साल नए स्वरूप में दिखेगी सम्राट भरत की जन्मस्थली कण्वाश्रम: सतपाल महाराज

कण्वाश्रम में झील, डियर पार्क, योगा पार्क, भरत और शकुन्तला की प्रतिमा के साथ ही म्यूजियम भी स्थापित करने की योजना बनाई है.

चक्रवर्ती सम्राट राजा भरत, जिनके नाम पर देश को भारत कहा जाता है, की जन्मस्थली कण्वाश्रम जल्द ही नए स्वरूप में दिख सकती है. कोटद्वार स्थित कण्वाश्रम को विकसित करने की महत्वाकांक्षी योजना पर राज्य सरकार ने काम शुरू कर दिया है. पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने आज इस योजना का शिलान्यास किया.

कण्वाश्रम को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए बनाई गई नई योजना के तहत काम की शुरुआत करते हुए पर्यटन मंत्री ने इसे कोटद्वार के लिए ऐतिहासिक दिन बताया. कण्वाश्रम के पास मालन नदी के तट पर आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के साथ ही स्थानीय विधायक और वन मंत्री हरक सिंह रावत भी शामिल हुए.

सतपाल महाराज ने कहा कि कण्वाश्रम प्रदेश ही नही बल्कि देश की ऐतिहासिक जगहों में से एक है और इसे अंतर्राष्ट्रीय पटल पर पहचान दिलाने के लिए यह योजना बनाई गई है जिसके लिए 25 करोड़ रुपये का बजट जारी किया गया है.

पर्यटन मंत्री ने कहा कि क्षेत्र को 25 करोड़ रुपये की लागत से संवारा जाएगा. उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने कण्वाश्रम में झील बनाए की योजना बनाई थी जिससे यह क्षेत्र सिर्फ पिकनिक स्पॉट बन कर रह जाता और इसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान नहीं मिल पाती.

बीजेपी सरकार ने पुराने प्रोजेक्ट में तब्दीलियां कर कण्वाश्रम में झील, डियर पार्क, योगा पार्क, भरत और शकुन्तला की प्रतिमा के साथ ही म्यूजियम भी स्थापित करने की योजना बनाई है. उन्होंने दावा किया कि यह सभी चीज़ें एक साल के भीतर बनकर तैयार हो जाएंगीं.

कण्वाश्रम में बसंत पंचमी मेला होगा राजकीय मेला, CM ने की घोषणा

VIDEO : कोटद्वार बनेगा ईको टूरिज्म हब 

Tags: Kotdwar news, Pauri Garhwal news, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर