Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड से अलग हो यूपी में गए कोटद्वार से लगे 16 गांव

उत्तराखंड से अलग हो यूपी में गए कोटद्वार से लगे 16 गांव

उत्तराखंड मूल के कोटद्वार की सीमा से लगे यूपी के गांवों में आजादी के मायने ही कुछ और है. दरअसल अविभाजित उत्तर प्रदेश से अलग होकर अस्तित्व में आये.

उत्तराखंड मूल के कोटद्वार की सीमा से लगे यूपी के गांवों में आजादी के मायने ही कुछ और है. दरअसल अविभाजित उत्तर प्रदेश से अलग होकर अस्तित्व में आये.

उत्तराखंड मूल के कोटद्वार की सीमा से लगे यूपी के गांवों में आजादी के मायने ही कुछ और है. दरअसल अविभाजित उत्तर प्रदेश से अलग होकर अस्तित्व में आये.

उत्तराखंड मूल के कोटद्वार की सीमा से लगे यूपी के गांवों में आजादी के मायने ही कुछ और है. दरअसल अविभाजित उत्तर प्रदेश से अलग होकर अस्तित्व में आये. उत्तराखंड के इन गांवों पर परिसीमन की ऐसी मार पड़ी कि इन्हे यूपी के भरोसे छोड़ दिया गया.

अलग राज्य बने उत्तराखंड ने 16 सालों का सफर तो तय कर लिया लेकिन उत्तराखंड से यूपी के हवाले किये गये इन गांवों में 16 सालों में कितना विकास हुआ है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यहां के लोगों ने आज तक अपने सांसद का चेहरा तक नहीं देखा है.

हालांकि विधानसभा चुनावों में इन गावों में जरुर नेताओं के दौरे लगते है लेकिन चुनाव खत्म होने के बाद वह भी ईद के चांद हो जाते है.

उत्तराखंड के कोटद्वार तहसील की सीमा से यूपी के करीब 100 से अधिक ऐसे गांव है जो मूल रुप से है तो पहाड़ी परिवेश के लेकिन पहाड़ जैसी समस्याओं ने इन गांवों के लोगों में खुद की सरकारों के प्रति इतना आक्रोश पैदा कर दिया है कि वह खुद को इस देश में बेगान ही महसूस कर रहे है.

उत्तर प्रदेश के इन गांवों को हालांकि उत्तराखंड में मिलाने के लिए समय-समय पर जन आंदोलन भी किये जाते है लेकिन इन आंदोलन की आवाज शायद लखनऊ और दिल्ली तक नही पहुंचती. जिसके चलते इनकी समस्याओं को दूर करने के लिए कोई कदम ही नही उठाये जाते.

उत्तर प्रदेश सरकार में राज्य पुनर्गठन आयोग में बतौर सदस्य की जिम्मेदारी सम्भाल रहे सपा नेता विनोद बडथ्वाल ने इन गावों को उत्तराखंड में मिलाने के लिए यूपी की अखिलेश सरकार के सामने मांग भी रखी. लेकिन उस पर भी कोई अमल नहीं हो पाया है.

Tags: Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर