दो दिन बाद खुला लैंसडाउन मार्केट... बहुत ज़रूरी होने पर ही जाने दे रहा कैंट प्रशासन ()
Pauri-Garhwal News in Hindi

दो दिन बाद खुला लैंसडाउन मार्केट... बहुत ज़रूरी होने पर ही जाने दे रहा कैंट प्रशासन ()
. हाल ही में कोरोना का मरीज़ पाए जाने के बाद कैंट बोर्ड ने लैंसडाउन बाज़ार को पूरी तरह से बंद करने के आदेश दिए थे.

लैंसडाउन कैंट बोर्ड का इलाका इसलिए भी ज्यादा संवेदनशील है क्योंकि इसी क्षेत्र में गढ़वाल राइफ़ल्स का हेडक्वार्टर है.

  • Share this:
कोटद्वार. पर्यटन और सैन्यनगरी लैंसडाउन का बाज़ार एक बार फिर ग्राहकों के लिए खोल दिया गया है.  हाल ही में कोरोना का मरीज़ पाए जाने के बाद कैंट बोर्ड ने लैंसडाउन बाज़ार को पूरी तरह से बंद करने के आदेश दिए थे. बाज़ार को 2 दिनों तक बंद रखा गया और पूरे इलाके का सैनिटाइज़ेशन कराया गया. इसके बाद ही मार्केट को खोल गया. कैंट बोर्ड ने राज्य सरकार को कोरोना से लड़ने के लिए बजट देने का भी प्रस्ताव भेजा है. लैंसडाउन कैंट बोर्ड का इलाका इसलिए भी ज्यादा संवेदनशील माना जाता है क्योंकि इसी क्षेत्र में गढ़वाल राइफ़ल्स का हेडक्वार्टर भी मौजूद है जहां हज़ारों की तादाद में सैनिक और अधिकारी मौजूद हैं.

स्क्रीनिंग और सैनिटाइज़ेशन 

बता दें कि यह पहला मामला है जब लैंसडाउन में एक व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि हुई है.  अब ऐहतिहात बरतते हुए बाहर से आने वाले सभी लोगों को केंट बोर्ड की सीमा पर ही रोक दिया जाता है.  पुलिस और कैंट कर्मचारी बैरिकेड्स लगाकर स्क्रीनिंग कर रहे हैं और ज़रूरी होने पर ही कैंट बोर्ड क्षेत्र में जाने की परमिशन दी जा रही है.



कोरोना के दृष्टिगत पूरे इलाके का सैनिटाइजेशन किया जा रहा है जिससे कोरोना संक्रमण न फैले. स्थानीय प्रशासन की बात की जाए तो प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से उन सभी लोगों की सैंपलिंग की जा रही है जो कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति के संपर्क में आए थे.

लैंसडाउन के विधायक दिलीप सिंह रावत का कहना है कि पूरे मामले की मॉनिटरिंग की जा रही है. लैंसडाउन सैन्य नगरी है इसलिए विशेष तौर पर इस बात का भी ख्याल रखा जा रहा है कि संक्रमण को किसी भी हाल में फैलने से रोका जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज