लैंसडौन MLA दिलीप रावत के भतीजा, भतीजी Corona पॉजिटिव, 3 दिन पहले मां निकली थी संक्रमित
Pauri-Garhwal News in Hindi

लैंसडौन MLA दिलीप रावत के भतीजा, भतीजी Corona पॉजिटिव, 3 दिन पहले मां निकली थी संक्रमित
विधायक दिलीप रावत का कोरोना सैंपल नहीं लिया गया है क्योंकि सिद्धबली मंदिर का महंत होने के वजह से वह सावन माह में मंदिर में ही हैं.

परिवार के सभी सदस्यों समेत घर में काम करने वाले सभी कर्मचारियों के भी कोरोना (COVID-19) सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे थे. 2 सदस्यों के अलावा सभी निगेटिव हैं.

  • Share this:
कोटद्वार. देहरादून में बीजेपी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के चमत्कारिक माला पहनने के चर्चाएं है तो प्रदेश में बीजेपी नेताओं के कोरोना संक्रमित होने के मामले बढ़ते जा रहे हैं. कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज (Satpal Maharaj) के बाद भाजपा के लैंसडौन विधायक दिलीप रावत के परिवार में भी कोरोना वायरस संक्रमण पहुंच गया है. उनके भाई की पत्नी तीन दिन पहले ही कोरोना पॉज़िटिव पाई गई थीं अब उनके दो बेटे भी कोरोना संक्रमित मिले हैं. राहत की बात यह है कि रावत के परिवार में बाकी सभी के कोरोना टेस्ट नेगिटिव आए हैं.

साथ रहते हैं भाइयों के परिवार 

बता दें कि दिलीप रावत और उनके दो भाइयों के परिवार साथ ही रहते हैं. इस संयुक्त परिवार में दिलीप रावत और उनकी पत्नी के अलावा दो भाईयों की पत्नियों और दोनों के दो-दो बच्चे शामिल हैं.



तीन दिन पहले उनके भाई की पत्नी कोरोना पॉजिटिव पाई गईं तो स्वास्थ्य विभाग की टीम ने परिवार के सभी सदस्यों समेत घर में काम करने वाले सभी कर्मचारियों के भी कोरोना सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे थे. अब जिनमें से दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.
विधायक का सैंपल नहीं लिया 

इनके अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीम की ओर से जिन लोगों के सैम्पल भेजे गए थे उनमें उनके घर में काम करने वाले एक नौकर और उसकी पत्नी समेत दो बच्चे भी शामिल हैं. विधायक के साथ रहने वाले एक सहायक युवक के सैंपल भी जांच के लिए भेजा गया था, वह भी निगेटिव आया है.

ख़ास बात यह है कि विधायक दिलीप रावत का कोरोना सैंपल नहीं लिया गया है. इसकी वजह यह है कि सिद्धबली मंदिर का महंत होने के वजह से वह सावन माह में मंदिर में ही रहते हैं, घर नहीं जाते. पूरे महीने के दौरान उनका परिवार से संपर्क नहीं हुआ है इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने उनका सैंपल लेने की ज़रूरत भी नहीं समझी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज