कोटद्वार में खनन माफ़िया ने पंचायत की ज़मीन पर लगे पेड़ उखाड़े... ग्रामीणों का हंगामा
Pauri-Garhwal News in Hindi

कोटद्वार में खनन माफ़िया ने पंचायत की ज़मीन पर लगे पेड़ उखाड़े... ग्रामीणों का हंगामा
खनन माफ़िया ने पहले वन पंचायत की भूमि पर खड़े पेड़-पौधे उखाड़ डाले और फिर उसपर जेसीबी चलाकर अस्थाई रास्ता बना डाला.

खुदाई किए जाने से आक्रोशित ग्रामीणों का कहना है कि अगर स्थानीय प्रशासन उनकी नहीं सुनता तो वे इसके खिलाफ आंदोलन करने को बाध्य होंगे.

  • Share this:
कोटद्वार के लछमपुर इलाके में देर शाम उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब खनन माफ़िया जेसीबी लगाकर वन पंचायत की भूमि पर बिना अनुमति खुदाई करने लगे. खनन माफ़िया ने पहले वन पंचायत की भूमि पर खड़े पेड़-पौधे उखाड़ डाले और फिर उसपर जेसीबी चलाकर अस्थाई रास्ता बना डाला. एकाएक वन पंचायत की भूमि पर जेसीबी चलता देख मौके पर पहुंचे स्थानीय पार्षद जगदीश मेहरा समेत तमाम लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया. ग्रामीणों ने पुलिस और प्रशासन को इसकी शिकायत करते हुए मौके पर जमकर हंगामा काटा.

जांच की मांग 

ग्रामीणों का आरोप है कि बिना अनुमति के वन पंचायत की भूमि में पेड़ों का कटान और वाहनों की आवाजाही के लिए रास्ता बनाया जा रहा है. ग्रामीणों ने इसकी शिकायत एसडीएम कोटद्वार से करते हुए मामले की जांच करने की मांग की है.



बता दें कि प्रशासन की ओर से सिगड्डी श्रोत में चेनलाइज़ेशन करने के लिए टेंडर जारी किए गए है. टेंडर लेने वाले खनन माफ़िया ने वाहनों की आवाजाही के लिए वन पंचायत की भूमि से रास्ता निकाल दिया. भूमि पर मशीनें लगाकर खुदाई किए जाने से आक्रोशित ग्रामीणों का कहना है कि अगर स्थानीय प्रशासन उनकी नहीं सुनता तो वे इसके खिलाफ आंदोलन करने को बाध्य होंगे.
कार्रवाई का आश्वासन 

मामला बढ़ता देख प्रशासन की ओर से मौके का निरीक्षण कर खनन माफ़िया के खिलाफ कार्रवाई की बात कही जा रही है. कोटद्वार एसडीएम योगेश मेहरा का कहना है कि टेंडर इसी शर्त पर जारी किए गए थे कि सिगड्डी स्रोत से वाहनों की आवाजाही का कोई रास्ता नहीं है. टेंडर लेने वाले व्यक्ति को खुद की व्यवस्था से वाहनों की आवाजाही के लिए रास्ता ढूंढना होगा.

एसडीएम ने कहा कि बिना अनुमति के वन पंचायत की भूमि को खुर्द-बुर्द करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ये भी देखें: 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज