लाइव टीवी
Elec-widget

बिजली दरों में वृद्धि से बंदी के कगार पर कोटद्वार की दर्जन भर से ज़्यादा फ़ैक्ट्रियां

Anupam Bhardwaj | News18 Uttarakhand
Updated: November 13, 2019, 11:05 AM IST
बिजली दरों में वृद्धि से बंदी के कगार पर कोटद्वार की दर्जन भर से ज़्यादा फ़ैक्ट्रियां
कोटद्वार के जशोधरपुर इंडस्ट्रियल एरिया (Jashodharpur Industrial Area) में मौजूद एक दर्जन से ज्यादा फैक्ट्रियां बंदी के कगार पर पहुंच गई हैं.

फ़ैक्ट्री एसोसिएशन के सदस्य उमेश सिंह (Factory Association Member) कहते हैं कि सरकार को बिजली दरों में वृद्धि को तुरंत वापस लेना चाहिए वरना हज़ारों लोग बेरोज़गार (Jobless) हो सकते हैं

  • Share this:
कोटद्वार. शहर के जशोधरपुर इंडस्ट्रियल एरिया (Jashodharpur Industrial Area) में मौजूद एक दर्जन से ज्यादा फैक्ट्रियां बंदी के कगार पर पहुंच गई हैं. पहले ही मंदी (Depression) की वजह से परेशान फ़ैक्ट्रियां बिजली दरों में वृद्धि की वजह से बंदी के कगार पर आ गई हैं. कोटद्वार (Kotdwar) फ़ैक्ट्री मालिकों (Factory Owners) का कहना है कि बिजली बिलों की दरों में वृद्धि की वजह से उन पर लाखों रुपये का बोझ हर महीने बढ़ गया है.

14  घंटे चल रही हैं 24 घंटे चलने वाली फ़ैक्ट्रियां 

कोटद्वार के जशोधरपुर इंडस्ट्रियल एरिया में चल रही फ़ैक्ट्रियां भी मंदी से अछूती नहीं हैं और करीब साल भर से मांग की कमी की वजह से परेशान हैं. हालत यह हो गई है कि इन फैक्ट्रियों ने बड़े स्तर पर अपना उत्पादन घटा दिया है.

कभी 24 घंटे चलने वाली ये फैक्ट्रियां अब 14 घंटे ही चल पा रही हैं. जशोधरपुर इंडस्ट्रियल एरिया में बड़ी संख्या में उत्तर प्रदेश, झारखंड और उत्तराखंड के हज़ारों कर्मचारी नौकरी करते हैं. उत्पादन घटने से इन लोगों के रोज़गार पर संकट खड़ा हो गया है.

10-15 लाख रुपये का बोझ बढ़ा 

फ़ैक्ट्री एसोसिएशन के सदस्य उमेश सिंह ने कहा कि उद्योग क्षेत्र पहले से ही मंदी की मार झेल रहा था. उस पर ऊर्जा विभाग ने दो बार बिजली के बिल बढ़ा दिए हैं. उमेश सिंह कहते हैं कि 50 पैसे प्रति यूनिट बिजली दर में वृद्धि होने से हर महीने फ़ैक्ट्री पर 10-15 लाख रुपये का बिजली बिल का बोझ बढ़ गया है.

उमेश सिंह कहते हैं कि मंदी की वजह से पहले ही कई महीनों से कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जा पा रहा है. अब बिजली बिल का बोझ बढ़ने की वजह से कई फैक्ट्रियों के सामने बंदी की नौबत आ गई है. उमेश सिंह कहते हैं कि सरकार को बिजली दरों में वृद्धि को तुरंत वापस लेना चाहिए वरना हज़ारों लोग बेरोज़गार हो सकते हैं.
Loading...

ये भी देखें: 

मौत के कुएं में हादसा... किसने दी परमिशन, किसकी है ग़लती? कुछ पता नहीं

SBML के डायरेक्टरों, प्रमोटरों पर 130 करोड़ के बैंक फ्रॉड में CBI केस, FIR में मोहन काला का भी नाम

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पौड़ी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 11:02 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...