• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • अब दिल्ली में धरना दे रहे हैं श्रीनगर NIT के छात्र, बात 'ऊपर' पहुंचाने की कोशिश

अब दिल्ली में धरना दे रहे हैं श्रीनगर NIT के छात्र, बात 'ऊपर' पहुंचाने की कोशिश

एनआईटी उत्तराखण्ड के छात्र अब दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन करने पहुंच गए हैं.

एनआईटी उत्तराखण्ड के छात्र अब दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन करने पहुंच गए हैं.

आंदोलनरत छात्र-छात्राओं का कहना है कि एमएचआरडी और त्रिवेन्द्र रावत सरकार झूठे वादे कर रही है.

  • Share this:
    एनआईटी उत्तराखण्ड के छात्र अब दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन करने पहुंच गए हैं. ये छात्र  मानव संसाधन विकास मंत्रालय और उत्तराखण्ड सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. श्रीनगर में ये छात्र-छात्राएं दिवाली के दिन भी धरने पर बैठे रहे थे लेकिन छुट्टियों के बाद कॉलेज जॉयन करने के बजाय ये सभी घर लौट गए थे. 3 अक्टूबर को एनआईटी की छात्रा नीलम मीना और नूपुर मुंडा  केदारनाथ हाइवे क्रॉस करने के दौरान सड़क हादसे में घायल हो गई थीं जिसके बाद से छात्र धरने पर बैठे थे.

    बता दें कि हादसे में केदारनाथ हाइवे पर हुए हादसे में नीलम मीना का पैर पूरी तरह बेकार हो गया था. उसके बाद से अपनी मांगों को लेकर एनआईटी के छात्र आंदोलनरत हैं. उत्तराखण्ड में कई बार विरोध प्रदर्शन करने के बाद यह लोग अपनी बात ऊपर तक पहुंचाने के लिए दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं.

    आंदोलनरत छात्र-छात्राओं का कहना है पौड़ी गढ़वाल के श्रीनगर में स्थित एनआईटी कैम्स को  दूसरी जगह शिफ्ट किया जाए. एनआईटी श्रीनगर में सुविधा नाम की कोई चीज नहीं है. वहां न तो लैब है, न पढ़ाई की उचित सुविधा. कैम्पस में चिकित्सा उपचार सुविधा तक नहीं है. यानि कि रहने-पढ़ने सबकी दिक्कत है इसलिए कैम्पस दूसरे जगह शिफ्ट करना ज़रूरी है.

    उधर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री साफ़ शब्दों में कह चुके हैं कि एनआईटी श्रीनगर से शिफ़्ट नहीं होगा. श्रीनगर में ही स्थाई कैंपस और अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए सरकार काम कर रही है. एनआईटी प्रबंधन को पहले भी ज़मीन दिखाई गई थी और अब भी दिखाई गई है.

    लेकिन आंदोलनरत छात्र-छात्राओं का कहना है कि एमएचआरडी और त्रिवेन्द्र रावत सरकार झूठे वादे कर रही है. इन लोगों को छात्रों की भलाई से कोई सरोकार नहीं है. आंदोलनरत छात्र-छात्राओं को कैम्पस छोड़े  55 दिन हो गए हैं. इन लोगो की एक मांग है कि घायल छात्रा नीलम मीना को इलाज के पैसे दिए जाएं और नौकरी की व्यवस्था की जाए.

    (दिल्ली से राजीव तिवारी की रिपोर्ट)

    VIDEO: NIT छात्र-छात्राओं ने किया मिड टर्म परीक्षाओं का बहिष्कार, आंदोलन जारी

    NIT शिफ़्टिंग का विरोध करने वालों को छात्रों ने दी सोशल मीडिया पर गालियां, FIR दर्ज 

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज