लाइव टीवी

कोटद्वार: ट्रेंचिंग ग्राउंड में मरे हुए जानवरों को फेंकने पर लोगों में भरा गुस्सा, बताया महामारी का खतरा

Anupam Bhardwaj | News18 Uttarakhand
Updated: January 14, 2020, 11:34 AM IST
कोटद्वार: ट्रेंचिंग ग्राउंड में मरे हुए जानवरों को फेंकने पर लोगों में भरा गुस्सा, बताया महामारी का खतरा
कूड़ा डालने वाली गाड़ियों की आवाजाही पर लोगों ने लगाया रोक

कोटद्वार (Kotdwar) में लकड़ी पड़ाव इलाके के ट्रेंचिंग ग्राउंड (Trenching Ground) में कूड़ा डालने वाली गाड़ियों की आवाजाही पर स्थानीय लोगों ने रोक लगा दिया है.

  • Share this:
कोटद्वार. उत्तराखंड (Uttarakhand) के पौड़ी गढ़वाल (Pauri Garhwal) जिले में कोटद्वार (Kotdwar) के लकड़ी पड़ाव इलाके में मौजूद ट्रेंचिंग ग्राउंड (Trenching ground) में दर्जनों मवेशियों के शव मिलने से लोगों में गुस्सा भर गया है. ट्रेंचिंग ग्राउंड में मरे हुए मवेशियों के शव मिलने से इलाके के भड़के हुए लोगों ने नगर निगम (Municipal Corporation) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

कूड़ा डालने वाली गाड़ियों की आवाजाही पर लोगों ने लगाया रोक

ट्रेंचिंग ग्राउंड में कूड़ा डालने वाली गाड़ियों की आवाजाही पर रोक लगाते हुए लोगों ने इलाके में महामारी का खतरा बताया है. लोगों का कहना है कि एक ओर खोह नदी में कूड़ा डालकर नदी को जहरीला किया जा रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ पशुओं के शव भी ट्रेंचिंग ग्राउंड में डाले जा रहे है. इससे इलाके में महामारी फैलने का खतरा बढ़ गया है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि लकड़ी पड़ाव इलाके के ट्रेंचिंग ग्राउंड में 17 मवेशियों के शव पड़े हुए हैं, जिन्हें कोई देखने सुनने वाला नहीं है. अन्य पशु-पक्षी आकर इन्हें नोचते हैं खाते हैं, जिससे कि इलाके में महामारी फैल सकती है.

जांच के बाद की जाएगी कार्रवाई

वहीं नगर निगम प्रशासन मामले की जांच कराने बात कह रहा है. कोटद्वार एसडीएम योगेश मेहरा ने कहा कि मवेशियों के शव किसी व्यक्ति द्वारा फेंके गए हैं या नगर निगम के कर्मचारियों की लापरवाही के कारण फेंके गए हैं, इसकी जांच की जा रही है. जांच के बाद तथ्यों के सामने आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें:- नाबार्ड ने इस साल बढ़ा दी उत्तराखंड की ऋण क्षमता, CM ने बताया कहां है ज़रूरतये भी पढ़ें:- ऋषिकुल आयुर्वेद कॉलेज के गेट पर कर्मचारियों की तालाबंदी, 40 दिन से धरना जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पौड़ी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 10:47 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर