इस गांव के लोगों को 2 किमी दूर से ढोना पड़ता है पानी

पूर्व ग्राम प्रधान महेश सिंह रावत ने कहा कि उनके गांव में वर्षों से पानी की समस्या चली आ रही है. कई बार प्रशासन से इस समस्या के बारे में कहा गया मगर कोई समाधान नहीं हुआ.

shailender bhandari | News18 Uttarakhand
Updated: October 3, 2018, 11:57 AM IST
इस गांव के लोगों को 2 किमी दूर से ढोना पड़ता है पानी
पौड़ी गढ़वाल - पानी की समस्या से 70 परिवार प्रभावित.
shailender bhandari | News18 Uttarakhand
Updated: October 3, 2018, 11:57 AM IST
पौड़ी के ओजली गांव में जल संकट है. यहां पानी की पाइपलाइन नहीं है. गांव में अन्य कोई जल स्रोत भी नहीं हैं. इस वजह से गांव के लोगों को दूर दराज गांव से पानी लाना पड़ता है या फिर ग्रामीण मजबूरी में गदेरों का पानी पीते हैं.

पानी की समस्या को लेकर गांव के 70 परिवार प्रभावित है. इसके चलते ग्रामीणों ने गांव में ही शासन प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर अपनी नराजगी व्यक्त की. ग्रामीणों की माने तो गांव में बुजुर्ग हो या बच्चा सभी लोग सुबह से शाम तक पानी ही भरते हैं. गांव में कई ऐसे छोटे बच्चे भी हैं जो स्कूल न जाकर दिनभर पानी ढोते रहते हैं. गांव के लोगों ने कई बार पानी की समस्या से विधायक और मंत्री को अवगत कराया. लेकिन अभी तक गांव में पानी की पाइपलाइन नहीं पहुंची. यहां गांव के लोग पानी के लिये तरस रहे हैं.

पूर्व ग्राम प्रधान महेश सिंह रावत ने कहा कि उनके गांव में वर्षों से पानी की समस्या चली आ रही है. गांव के लोग पानी के लिए 2 किमी दूर पानी के स्रोत पर निर्भर हैं. उन्होंने कहा कि कई बार प्रशासन से इस समस्या के बारे में कहा गया मगर कोई समाधान नहीं हुआ. वहीं एक ग्रामीण महिला ने कहा कि पानी की समस्या के कारण बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है. बच्चों को पढ़ाई करने के समय में पानी ढोना पड़ रहा है. उन्होंने प्रशासन से पानी की समस्या जल्द-से-जल्द दूर करने की मांग की.

यह भी पढ़ें - इंवेस्टर्स समिट में मेहमानों का स्वागत लजीज पहाड़ी व्यंजनों से होगा

यह भी देखें - VIDEO: श्राद्ध पक्ष में बद्रीनाथ धाम में लोग अपने पितरों के लिए कर रहे हैं मोक्ष की कामना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पौड़ी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2018, 11:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...