होम /न्यूज /उत्तराखंड /

रुद्रप्रयाग के सोनप्रयाग में शासन ने एक और थाने को खोलने की दी मंजूरी

रुद्रप्रयाग के सोनप्रयाग में शासन ने एक और थाने को खोलने की दी मंजूरी

उत्तराखण्ड राज्य में लगातार नए थानों के खुलने का सिलसिला जारी है. रुद्रप्रयाग के सोनप्रयाग में शासन ने एक और थाने को खोलने की मंजूरी दी है. इस तरह से प्रदेश में थानों की संख्या 151 से बढ़कर 152 हो गई है.

उत्तराखण्ड राज्य में लगातार नए थानों के खुलने का सिलसिला जारी है. रुद्रप्रयाग के सोनप्रयाग में शासन ने एक और थाने को खोलने की मंजूरी दी है. इस तरह से प्रदेश में थानों की संख्या 151 से बढ़कर 152 हो गई है.

उत्तराखण्ड राज्य में लगातार नए थानों के खुलने का सिलसिला जारी है. रुद्रप्रयाग के सोनप्रयाग में शासन ने एक और थाने को खोलने की मंजूरी दी है. इस तरह से प्रदेश में थानों की संख्या 151 से बढ़कर 152 हो गई है.

    उत्तराखण्ड राज्य में लगातार नए थानों के खुलने का सिलसिला जारी है. रुद्रप्रयाग के सोनप्रयाग में शासन ने एक और थाने को खोलने की मंजूरी दी है. इस तरह से प्रदेश में थानों की संख्या 151 से बढ़कर 152 हो गई है.

    अपराध पर हर सूरते हाल में अंकुश लगे इसके लिए प्रदेश में एक राज्यस्तरीय साइबर क्राइम थाना भी खोला गया है. दरअसल प्रदेश में दोहरी पुलिसिंग व्यवस्था लागू है.

    प्रदेश के 60 फीसदी भू भागों पर राजस्व पुलिस कानून व्यवस्था काम देखती है. राजस्व पुलिस डीएम और एस डीएम के अंडर में काम करती है. जबकि सिविल पुलिस का अपना ढांचा है.

    प्रदेश में अपराध को रोकने के लिए पुलिस की दलील है कि प्रदेश में राजस्व पुलिस को समाप्त करके सिविल पुलिस की स्थापना होनी चाहिए. वही डीजीपी का कहना है कि प्रदेश में राजस्व पुलिस की व्यवस्था काफी पुरानी है.

    ऐसे में आज के बदले परिवेश के मुताबिक पुलिसिंग सिस्टम में बदलाव लाने की जरूरत है. जिससे लोगों के जान माल की हिफाजत की जा सके.

    फिलहाल प्रदेश में दर्जनों ऐसे मामले है, जिसकी सिविल पुलिस जांच कर रही है, जबकि संगीन घटनाएं राजस्व क्षेत्रों में हुई है. उत्तराखण्ड देश का एक मात्र ऐसा राज्य है जहां दोहरी पुलिसिंग सिस्टम लागू है.

    Tags: क्राइम

    अगली ख़बर