खंडूड़ी का बेटा बना कांग्रेसी तो पौड़ी गढ़वाल बनी 'हॉट सीट', डोभाल के बेटे से हो सकता है मुकाबला

वर्ष 2006 में उत्तराखंड कांग्रेस के 10 शीर्ष नेता बीजेपी में शामिल हो गए थे. उसके बाद से कांग्रेस को किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश थी, जो पार्टी में तह तक पकड़ बना सके.

News18.com
Updated: March 16, 2019, 5:10 PM IST
खंडूड़ी का बेटा बना कांग्रेसी तो पौड़ी गढ़वाल बनी 'हॉट सीट', डोभाल के बेटे से हो सकता है मुकाबला
राहुल गांधी और मनीष खंडूरी (फाइल फोटो)
News18.com
Updated: March 16, 2019, 5:10 PM IST
अनुपम त्रिवेदी

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता बीसी खंडूड़ी के बेटे मनीष खंडूड़ी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में शनिवार को पार्टी में शामिल हो गए. इससे दो दिन पहले गुरुवार को सोनिया गांधी के करीबी नेताओं में शामिल वरिष्ठ कांग्रेसी नेता टॉम वडक्कन बीजेपी में शामिल हुए.

सूत्रों के अनुसार, मनीष खंडूड़ी को पौड़ी गढ़वाल सीट से चुनाव में उतारा जा सकता है. उनके पिता पूर्व मेजर जनरल खंडूड़ी इसी सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं. अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में खंडूड़ी दो बार विदेश राज्य मंत्री रहे हैं.



वरिष्ठ नेता खंडूड़ी की स्वच्छ छवि बीजेपी के लिए यूएसपी रही है. खंडूड़ी खराब स्वास्थ्य के कारण चुनाव लड़ने में असमर्थ हैं. लेकिन उनके अच्छे काम और छवि के कारण बीजेपी को इस सीट पर पूरा भरोसा है.

बता दें कि वर्ष 2006 में उत्तराखंड कांग्रेस के 10 शीर्ष नेता बीजेपी में शामिल हो गए थे. उसके बाद से कांग्रेस को किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश थी, जो पार्टी में तह तक पकड़ बना सके. उत्तराखंड के कांग्रेस प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा कि पार्टी इसपर विचार करेगी कि मनीष को कौन सी जिम्मेदारी दी जाए?

वहीं पौड़ी गढ़वाल सीट पर बीजेपी के चार दावेदार बताए जा रहे हैं. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे शौर्य पहले से ही इस सीट पर नजर गड़ाए हुए हैं. वह एक एनजीओ बनाकर पिछले एक साल से यहां अभियान के माध्यम से अपनी जमीन तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: आतंकी मसूद अजहर बोला- बालाकोट में नहीं हुआ कोई नुकसान, सब कुछ ठीक-ठाक
Loading...

इसके साथ ही कर्नल (रिटायर) अजय कोठियाल भी इस सीट से टिकट मांग रहे हैं. वहीं इस सीट से रियर एडमिरल (रिटायर्ड) ओपी राणा का नाम पर भी चर्चा है. इस बीच उत्तराखंड बीजेपी राज्य अध्यक्ष अजय भट्ट और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने नई दिल्ली में बीसी खंडूड़ी से मुलाकात करके उन्हें चुनाव न लड़ने के फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए मनाने की कोशिश की.

यह भी पढ़ें:  अमेरिका : महिला ने 9 मिनट में 4 लड़कों और 2 लड़कियों को दिया जन्म

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...