Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand Chunav 2022: मिस इंडिया दिल्ली रह चुकीं हैं हरक सिंह रावत की बहू अनुकृति, जानें उनके बारे में सबकुछ

Uttarakhand Chunav 2022: मिस इंडिया दिल्ली रह चुकीं हैं हरक सिंह रावत की बहू अनुकृति, जानें उनके बारे में सबकुछ

हरक सिंह रावत  अपनी बहू अनुकृति के लिए भाजपा से चाहते थे टिकट.

हरक सिंह रावत अपनी बहू अनुकृति के लिए भाजपा से चाहते थे टिकट.

Uttarakhand Assembly Election: रावत चाहते थे कि उनकी बहू अनुकृति को लैंसडाउन सीट से टिकट मिले. भले ही अभी तक किसी भी दल की ओर से अनुकृति को यह सीट नहीं मिली है, लेकिन उन्हें विश्वास है कि वे जिस भी दल से यहां पर खड़ी होंगी, उन्हें जीत जरूरी मिलेगी.

अधिक पढ़ें ...

पौड़ी गढ़वाल. उत्तराखंड (Uttarakhand) की राजनीति में इस समय हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) के नाम की चर्चा है. रावत को भाजपा ने हाल ही पार्टी से निकाल दिया. रावत पार्टी से अपने लिए मनचाही सीट से टिकट मांग रहे थे. इसके अलावा वे अपने परिवार के दो सदस्यों के लिए भी भाजपा से टिकट मांग रहे थे, इनमें उनकी बहू अनुकृति गुसाई (Anukriti Gusai) भी हैं. रावत चाहते थे कि उनकी बहू अनुकृति को लैंसडाउन सीट से टिकट मिले. भले ही अभी तक किसी भी दल की ओर से अनुकृति को यह सीट नहीं मिली है, लेकिन उन्हें विश्वास है कि वे जिस भी दल से यहां पर खड़ी होंगी, उन्हें जीत जरूरी मिलेगी. आइए आपको बताते हैं कि अनुकृति कौन हैं…

यहीं जन्मीं हैं अनुकृति
लैंसडाउन, पौड़ी गढ़वाल जिले में आता है और अनुकृति का जन्म यहीं पर 1994 में हुआ था. अनुकृति ने 2013 में मिस इंडिया दिल्ली का खिताब जीता था. 2014 में मिस इंडिया पैसिफिक वर्ल्ड और वर्ष 2017 में मिस इंडिया ग्रैंड इंटरनेशनल में अनुकृत भारत का प्रतिनिधित्व भी कर चुकी हैं. इसके अलावा वे एक्टिव सोशल वर्कर हैं और महिला उत्थान एवं बाल कल्याण संस्थान की अध्यक्ष भी हैं.

Uttarakhand Election

अनुकृति गुसाईं

हरक के बेट से हुई शादी
अनुकृति ने हरक सिंह और दीप्ती रावत के बेटे तुषित से 2018 में शादी की थी. अनुकृति और हरक के परिवार के बीच पहले से काफी अच्छे रिश्ते रहे हैं. यही कारण है कि हरक सिंह की चुनावी रैलियों में कई बार अनुकृति नजर आ चुकी हैं. वे हरक सिंह के लिए चुनाव प्रचार में हमेशा आगे रहती हैं. हरक के बेटे तुषित शंकरपुर स्थित दून इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में काम करते हैं. तुषित की राजनीति में दिलचस्पी नहीं है लेकिन अनुकृति लम्बे समय से राजनीति में आना चाहती हैं. चूंकि वे यहां से जमीनी स्तर पर जुड़ी हुई हैं इसलिए उन्हें लगता है कि वे यहां से आसानी से चुनाव जीत सकती हैं.

ससुर अच्छे राजनेता
अनुकृति पहले ही यह कह चुकी हैं कि वे आगामी चुनाव में लड़ेंगे लेकिन किस पार्टी से लड़ेंगी यह अभी साफ नहीं हैं. उनका कहना है कि उनके ससुर हरक सिंह रावत बहुत अच्छे राजनेता हैं और उन्हें राजनीति की काफी समझ हैं. उनमें काफी काबिलियत है और उनसे काफी कुछ सीखा जा सकता है.

Tags: Harak singh rawat, Uttarakhand Assembly Election 2022, Uttarakhand Latest News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर