Home /News /uttarakhand /

'टिकट न मिलने की सूरत में किसी भी हद तक जाएंगे'

'टिकट न मिलने की सूरत में किसी भी हद तक जाएंगे'

पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता शूरवीर सिंह सजवाण ने पार्टी आलाकमान को देवप्रयाग विधानसभा से टिकट न मिलने की सूरत में किसी भी हद तक जाने की चेतावनी दे दी है.

पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता शूरवीर सिंह सजवाण ने पार्टी आलाकमान को देवप्रयाग विधानसभा से टिकट न मिलने की सूरत में किसी भी हद तक जाने की चेतावनी दे दी है.

पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता शूरवीर सिंह सजवाण ने पार्टी आलाकमान को देवप्रयाग विधानसभा से टिकट न मिलने की सूरत में किसी भी हद तक जाने की चेतावनी दे दी है. श्रीनगर गढ़वाल के निकट कीर्तिनगर में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे सजवाण ने साफ कहा कि पार्टी ने यदि मुझे या मुझ जैसे राज्य में मौजूद पुराने नेताओं को नजरअंदाज किया तो वे निर्दलीय नहीं बल्कि सभी का नेतृत्व करते हुए अलग पार्टी बनाकर चुनाव लड़ेंगे.

अधिक पढ़ें ...
पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता शूरवीर सिंह सजवाण ने पार्टी आलाकमान को देवप्रयाग विधानसभा से टिकट न मिलने की सूरत में किसी भी हद तक जाने की चेतावनी दे दी है.

श्रीनगर गढ़वाल के निकट कीर्तिनगर में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे सजवाण ने साफ कहा कि पार्टी ने यदि मुझे या मुझ जैसे राज्य में मौजूद पुराने नेताओं को नजरअंदाज किया तो वे निर्दलीय नहीं बल्कि सभी का नेतृत्व करते हुए अलग पार्टी बनाकर चुनाव लड़ेंगे.

उन्होंने पार्टी को चुनौती देते हुए कहा कि पार्टी को देवप्रयाग विधानसभा से ही उन्हें टिकट देना पड़ेगा, ये पार्टी भी जानती है और में देवप्रयाग से ही चुनाव लडूंगा. उन्होंने कहा कि जिनभी पार्टीजनों को इन पांच वर्ष के कार्यकाल में नजरअंदाज किया गया मैं उनका भी साथी हूं और उनका नेतृत्व करूंगा.

स्थापित और पुराने कांग्रेस कांग्रेस कार्यकर्ताओं को चुनाव में टिकट न मिलने के सवाल पर उन्होंने स्पष्ट कहा कि न केवल शूरवीर सिंह सजवाण के साथ बल्कि किसी भी नेता के साथ यदि पूरे उत्तराखंड में ऐसा अन्याय हुआ तो फिर एक व्यक्ति निर्दलीय क्यों लड़ेगा. फिर कोई संस्था बनाकर पूरे प्रदेश में लड़ा जायेगा और मैं किसी भी हद तक जा सकता हूं.

उन्होंने राज्यसभा सांसद के तौर पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को पार्टी द्वारा नहीं भेजे जाने पर भी अफसोस और दुख व्यक्त करते हुए कहा कि आजादी के बाद से राज्यसभा भेजने में गढ़वाल की हमेशा से उपेक्षा की गई है. आज तक कांग्रेस ने खासतौर पर किसी भी राज्यसभा सदस्य को गढ़वाल से नहीं बनाया गया है.

उन्होंने कहा कि पिछली बार किशोर उपाध्याय को राज्यसभा में भेजना निश्चित हो गया था लेकिन वो सीट भी हमसे छीनी गई. उन्होंने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि जिस दिन से राज्यसभा की सीट हमसे छीनी गई उस दिन से हमारे सीनों में दर्द है और हमारे सीनों में छेद हुआ है एवं हम अपने हक की लड़ाई के लिए मैदान में हैं.

Tags: Pauri news, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर