Home /News /uttarakhand /

alcohol totally ban by women in gir village mla harish singh dhami announce 10 lakh rupees localuk nodark

पिथौरागढ़ : उत्तराखंड की मातृशक्ति को सलाम, पहाड़ के इस गांव को कराया शराब मुक्त! जानिए पूरी कहानी

Gir Gaon Pithoragarh: पिथौरागढ़ जिले के गिर गांव की महिलाओं ने घर-घर जाकर शराब का विरोध किया. वहीं, महिलाओं की छह महीने की कवायद के बाद गांव करीब शराब मुक्‍त हो गया है. वहीं, क्षेत्रीय विधायक हरीश धामी (MLA Harish Dhami) ने महिलाओं के इस जज्‍बे को सलाम करते हुए 10 लाख रुपये की धनराशि गांव के विकास के लिए देने की घोषणा की है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- हिमांशु जोशी

    पिथौरागढ़. उत्तराखंड राज्य का शराब आंदोलनों से काफी पुराना नाता रहा है. वहीं, पहाड़ों में लगभग हर आयोजन में शराब पीने-पिलाने का चलन लगातार बढ़ता जा रहा है, जिससे यहां की युवा पीढ़ी नशे की लत में बर्बाद हो रही है. पुरुषों के नशे की गर्त में जाने का असर अगर परिवार में किसी पर सबसे ज्यादा पड़ता है, तो वह उस घर की महिला होती है. लगातार बढ़ते शराब के प्रचलन को रोकने के लिए अब यहां की मातृशक्ति ने चुप्पी तोड़ शराब के विरोध में मोर्चा खोल दिया है. हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के गांव गिर (Gir Village Pithoragarh) की, जहां की महिलाओं ने अपने गांव को शराबमुक्त बनाने का संकल्प लिया और काफी हद तक वह इस मुहिम में कामयाब भी हुईं.

    गिर गांव की महिलाओं के शराब के खिलाफ आंदोलन का असर यह रहा कि अब गांव के समारोहों में लोग शराब का बहिष्कार कर रहे हैं. गांव की महिलाओं ने कहा कि उनकी शराबबंदी की इस मुहिम से जिले के अन्य गांवों की महिलाएं भी प्रेरित हो रही हैं और इस दंश के खिलाफ आगे आ रही हैं.

    महिलाओं को छह महीने में मिली कामयाबी
    गिर गांव में 6 महीने पहले महिलाओं के शराब के खिलाफ उठाए कदम का आज यह असर हुआ है कि गांव में अब शराब की बिक्री के साथ शराब का इस्तेमाल पूर्ण रूप से बंद हो गया है. महिलाओं द्वारा समूह में शराब बेचने वालों पर कड़ा जुर्माना भी लगाया गया. महिलाएं घर-घर जाकर शराब का विरोध करने की अपील कर रही हैं, जिसका पुरुष भी समर्थन कर रहे हैं.

    विधायक ने उठाया ये कदम
    इस क्षेत्र के विधायक हरीश धामी (MLA Harish Dhami) ने गिर गांव की महिलाओं के इस कार्य को देखते हुए 10 लाख रुपये की धनराशि गांव के विकास के लिए देने की घोषणा की है. सरमोली के जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने गांव की इस उपलब्धि के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जिले का यह पहला ऐसा गांव है, जहां के लोगों ने अपने गांव को शराब मुक्त किया है. गांव की इस उपलब्धि को देखते हुए इस गांव को गोद लेने की कार्रवाई भी की जा रही है.

    Tags: Liquor Ban, Pithoragarh district, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर