आजादी के 72 साल बाद भी आदिम युग में जी रहे इस गांव के लोग, आम चुनाव के वक्त चर्चा में आया था!

आज़ादी के करीब 72 साल बाद उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में एक ऐसा गांव हैं, जहां के लोग आदिम युग में जी रहे हैं.

Vijay Vardhan
Updated: July 16, 2019, 10:30 PM IST
Vijay Vardhan
Updated: July 16, 2019, 10:30 PM IST
आज़ादी के करीब 72 साल बाद पिथौरागढ़ में एक ऐसा गांव है जहां के लोग आदिम युग में जीने को मजबूर हैं. धारचूला तहसील के इस गांव मेतली तक पहुंचने के लिए 15 किलोमीटर की खड़ी चढ़ाई पार करनी होती है. बीमार और गर्भवती महिलाओं को ग्रामीण 15 किलोमीटर डोली में लाते हैं, फिर 100 किलोमीटर का पहाड़ी सफर गाड़ी से तय कर मुख्यालय पहुंचते हैं. पेयजल, संचार, स्कूल समेत तमाम मूलभूत सुविधआओं की भी यही स्थिति है.  लोकसभा चुनावों में सड़क, जरूरी मांगों को लेकर चुनाव बहिष्कार भी किया था. लेकिन चुनाव के बाद कोई अधिकारी, नेता उनके गांव नहीं पहुंचा.

ज़िला अस्पताल तक पहुंचना मुश्किल
कुछ दिनों पहले मेतली की देवकी देवी पर पेड़ गिर गया था, घटना शाम को हुई थी, गंभीर घायल देवकी को सुबह 15 किलोमीटर पैदल सफर कर चामी लाया गया, फिर 100 किलोमीटर गाड़ी का सफर तय कर पिथौराग़ढ़ जिला अस्पताल ले जाया गया. यही इस गांव के हर व्यक्ति की यही नियती है. कई लोगों की मौत समय से इलाज नही मिल पाने के कारण हो चुकी है. लोकसभा चुनावों में सड़क, जरूरी मांगों को लेकर चुनाव बहिष्कार भी किया था. लेकिन चुनाव के बाद कोई अधिकारी, नेता उनके गांव नहीं पहुंचा.

मूलभूत सुविधाओं से महरूम मेतली

मेतली के ग्रामीण सड़क के संकट से तो जूझ ही रहे हैं. साथ ही यहां के लोग आज भी पेयजल और संचार की सुविधाओं के पूरी तरह महरूम हैं. गांव में एक प्राइमरी और एक जूनियर हाईस्कूल जरूर है, लेकिन ये दोनों स्कूल भी सिर्फ एक शिक्षक के सहारे चल रहे हैं.

सीएमओ डा0 ऊषा गुंजयाल का कहना है कि मेतली में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने के लिए विभाग ने प्रस्ताव निदेशालय को भेजा है. निदेशालय से स्वीकृति मिलने पर केन्द्र खोलने की दिशा में काम किया जाएगा. लेकिन सवाल ये है कि तब तक क्या मेतली के ढाई हजार लोग भगवान भरोसे ही रहेंगे?

ये भी पढ़ें -
Loading...

अगले 48 घंटों में संन्यास पर फैसला ले सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी!
Railway Recruitment 2019: दसवीं पास के लिए रेलवे में निकली नौकरी, जानें डिटेल्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पिथौरागढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 7:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...