Home /News /uttarakhand /

आपदाग्रस्त धारचूला में एक और आफत, एक गैस सिलेंडर के लिए चुकाने पड़ रहे 2500 रुपये

आपदाग्रस्त धारचूला में एक और आफत, एक गैस सिलेंडर के लिए चुकाने पड़ रहे 2500 रुपये

कॉंसेप्ट इमेज.

कॉंसेप्ट इमेज.

Uttarakhand News : आप धारचूला से चीन बॉर्डर से सटे गांवों तक जाते हैं, तो प्रति यात्री जितना खर्च होता है, एक एलपीजी सिलेंडर के लिए भी उतना ही भाड़ा लग रहा है. जानिए कैसे तीन गुनी कीमत में सिलेंडर लेने पर ग्रामीण मजबूर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    पिथौरागढ़. उत्तराखंड के सीमांत गांवों में ‘गरीबी में आटा गीला होने’ वाली कहावत चरितार्थ हो रही है. पिथौरागढ़ ज़िले ने हाल में बादल फटने के चलते प्राकृतिक आपदा का दंश झेला है. हादसों में जानो माल का नुकसान होने के साथ ही यहां कई संपर्क मार्ग तक ध्वस्त हो चुके हैं. इसका असर यह है कि चीन सीमा से सटे गांवों तक एक रसोई गैस सिलेंडर पहुंच पाना या तो असंभव हो गया है या फिर ग्रामीणों को एक सिलेंडर के लिए 2500 से 3000 रुपये तक का खर्च उठाना पड़ रहा है. आपदा और महंगाई से पहले ही जूझ रहे ग्रामीणों के लिए ये नई आफत किस तरह खड़ी हो गई है, जानिए.

    भौगोलिक परिस्थितयों को पहले समझिए कि धारचूला से चीन सीमा से सटे अंतिम गांव कुटी तक की दूरी करीब 120 किलोमीटर की है. एक यात्री को धारचूला से कुटी तक जाने के लिए 1200 रुपये करीब खर्च करने पड़ते हैं. एक रिपोर्ट की मानें तो अब एक यात्री जितना ही किराया सिलेंडर का देना पड़ रहा है. कई जगहें चूंकि सड़कें बंद पड़ी हैं, तो सिलेंडर ढोने के लिए मज़दूरों का सहारा लेना पड़ रहा है, जिसका शुल्क अलग है.

    ये भी पढ़ें : तीन महीने में उत्तराखंड में 5% कम रही बारिश, आज कई ज़िलों में बारिश की संभावना

    Uttarakhand latest News, Uttarakhand rains, gas cylinder price, gas cylinder price in Uttarakhand, lpg cylinder price, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड में बारिश, गैस सिलेंडर के दाम, एलपीजी रेट

    पिथौरागढ़ समेत उत्तराखंड के कई इलाकों में अनेक रास्ते बंद पड़े होने की खबरें हैं.

    कैसे तीन गुना हो जाती है कीमत?
    पिथौरागढ़ में भारी बारिश और भूस्खलन जैसी घटनाओं के चलते कई रास्ते बंद हैं यानी दूरस्थ सीमांत गांव संपर्क से तकरीबन कटे हुए हैं. एक स्थानीय व्यक्ति के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया कि 14 गांवों में यह आलम है कि एक सिलेंडर 2500 रुपये में पड़ रहा है. वहीं कुटी के एक निवासी की मानें तो सात गांवों में तो 900 रुपये के सिलेंडर के लिए 3000 रुपये तक की कीमत भी देनी पड़ रही है. सोबला के एक निवासी के अनुसार सिलेंडर ही नहीं, अन्य चीज़ें और खाद्य सामग्री के दाम भी तिगुने हो गए हैं.

    ये भी पढ़ें : सीएम धामी ने किया धारचूला के आपदाग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वे

    इस समस्या के समय में एक तरफ ग्रामीण मांग कर रहे हैं कि आर्थिक रूप से कमज़ोर लोगों को कम से कम ​दो सिलेंडर सरकार मुफ्त दे, तो वहीं, प्रशासन इसे कुछ समय की दिक्कत बता रहा है. धारचूला के एसडीएम अनिल कुमार शुक्ला के हवाले से अमर उजाला की खबर में लिखा गया कि ‘सड़कें खुलने के बाद यह दिक्कत नहीं होगी.’ लेकिन यह क्या इतनी आसान बात है? इसका अंदाज़ा इस फैक्ट से लगाइए कि तवाघाट-सोबला सड़क करीब ढाई महीने से बंद है.

    Tags: LPG Gas Cylinder, LPG Price, Pithoragarh district, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर