लाइव टीवी

पिथौरागढ़ हवाई सेवा की खस्ता हालत को उपचुनाव में मुद्दा बनाएगी कांग्रेस, बीजेपी ने कहा- इस पर राजनीति नहीं

Vijay Vardhan | News18 Uttarakhand
Updated: November 4, 2019, 7:33 PM IST
पिथौरागढ़ हवाई सेवा की खस्ता हालत को उपचुनाव में मुद्दा बनाएगी कांग्रेस, बीजेपी ने कहा- इस पर राजनीति नहीं
पिथौरागढ़ के लिए शुरु हवाई सेवा शुरुआत से ही हिचकोले खा रही है. इस खस्ताहाल हवाई सेवा से आम आदमी परेशान है.

पिथौरागढ़ (Pithoragarh) से हैरिटेज ऐविएशन (Heritage Aviaation) के 9 सीटर प्लेन की मदद से हिंडन (Hindon) और देहरादून (Dehradun) के लिए फ्लाइट शुरू की थीं लेकिन कभी प्लेन की खराबी तो कभी एयरपोर्ट की तकनीकी खामियों से फ्लाइट अक्सर रद्द ही रही हैं.

  • Share this:
पिथौरागढ़. ज़िले के नैनी-सैनी एयरपोर्ट (Naini Saini Airport) के शुरु होने और यहां नियमित हवाई सेवा को भाजपा (BJP) के पक्ष में सबसे बड़ा मुद्दा माना जा रहा था वही हवाई सेवा उसके लिए जी का जंजाल बन गई है. दरअसल पिथौरागढ़ (Pithoragarh) के लिए शुरु हवाई सेवा शुरुआत से ही हिचकोले खा रही है. आलम यह है कि खस्ताहाल हवाई सेवा से आम आदमी तो परेशान है कि अब कांग्रेस (Congress) ने भी इसे विधानसभा उपचुनाव (Assembly by-election) में मुद्दा बनाने की ठान ली है.

शुरु तो हुई पर रुक-रुककर 

पिथौरागढ़ विधानसभा के उपचुनाव में उम्मीदवार उतराने में भाजपा से पिछड़ी कांग्रेस अब कांग्रेस हवाई सेवा के मुद्दे पर भाजपा को पटखनी देना चाह रही है. पिथौरागढ़ से हैरिटेज ऐविएशन के 9 सीटर प्लेन की मदद से हिंडन और देहरादून के लिए फ्लाइट शुरू की थीं लेकिन कभी प्लेन की खराबी तो कभी एयरपोर्ट की तकनीकी खामियों से फ्लाइट अक्सर रद्द ही रही हैं.

इसी साल 17 जनवरी को पिथौरागढ़ और देहरादून के बीच फ्लाइट शुरू की गई थी. रुक-रुक कर 23 फरवरी तक चली हवाई सेवा के दौरान एक बार तो हवा में ही हवाई जहाज़ का दरवाज़ा खुल गया और उड़ान 6 महीने बंद रही.

यात्रियों की फजीहत 

जैसे-तैसे फिर 13 सितम्बर से देहरादून और फिर 12 अक्टूबर से हिंडन के लिए उड़ान शुरु की गई लेकिन मात्र एक 9 सीटर प्लेन से ज़रिए चल रही फ्लाइट अधिकतर मौकों पर प्रभावित ही रही है. इसकी वजह से सबसे अधिक फजीहत यात्रियों को उठानी पड़ी है.

चुनावी समर शुरु होने के बाद भी 2 नवम्बर से उड़ान बंद पड़ी है. आए दिन रद्द हो रही उड़ानों ने विपक्ष को भी बैठे बिठाए मुद्दा थमा दिया है. कांग्रेस के मुख्य प्रदेश प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी कहते हैं कि सरकार इस मामले को लेकर कतई भी गंभीर नहीं रही. जोशी कहते हैं कि सरकार ने पिथौरागढ़ को हवाई नक्श में लाने को लेकर महज़ खानापूर्ति की और इसलिए उन्हें इसका चुनाव में कतई लाभ नहीं मिलेगा.
Loading...

चुनाव से लेना-देना नहीं 

हालांकि भाजपा दावा कर रही है कि हवाई सेवा को पटरी पर लाने के गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं. भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष केदार जोशी कहते हैं कि प्रकाश पंत जी इस हवाई सेवा को शुरु करवाने के लिए लगातार प्रयासरत थे और उनकी कोशिशों का चुनाव से कोई लेना-देना नहीं था.

खस्ताहाल हो चुकी हवाई सेवा को राजनीतिक मुद्दा बनाकर कांग्रेस की चुनावी नैय्या कितनी पार होगी यह तो कह पाना कठिन है लेकिन इतना ज़रूर कहा जा सकता है कि इस सीमांत ज़िले के लोगों ने हवाई सफर को लेकर जो सपना संजोया था, वह धीरे-धीरे ज़रूर धूमिल हो रहा है.

ये भी देखें: 

पिथौरागढ़ उपचुनाव में संकट में कांग्रेस... मयूख महर ने किया चुनाव लड़ने से इनकार, पार्टी मानने को तैयार नहीं

पिथौरागढ़ के एक होटल में मिले चमोली के 31 क्षेत्र-ज़िला पंचायत सदस्य, ख़रीद-फ़रोख़्त की आशंका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पिथौरागढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 7:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...