Home /News /uttarakhand /

पिथौरागढ़ में पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी की किल्लत, आपदा से सप्लाई पर असर

पिथौरागढ़ में पेट्रोल-डीजल के बाद अब पानी की किल्लत, आपदा से सप्लाई पर असर

स्रोत

स्रोत से पानी भरते लोग.

आपदा से पिथौरागढ़ की तमाम पेयजल योजनाएं बाधित हो गई हैं, जिससे पिथौरागढ़ के नगरीय इलाकों में पानी सप्लाई पर असर पड़ा है.

    पिथौरागढ़ (Pithoragarh Rain) में बारिश के बाद जरूरी सामानों की आपूर्ति के साथ ही पीने के पानी की समस्या भी देखने को मिल रही है. जिले के कई इलाके ऐसे हैं, जहां पेयजल आपूर्ति ठप पड़ी हुई है. आपदा से पिथौरागढ़ की तमाम पेयजल योजनाएं बाधित हो गई हैं, जिससे पिथौरागढ़ के नगरीय इलाकों में पानी सप्लाई पर असर पड़ा है. लोग पीने के पानी के लिए स्रोतों का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिससे उन्हें कई किलोमीटर दूर जाकर पानी भरना पड़ रहा है. पिथौरागढ़ के टकारी क्षेत्र के ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय आकर अधिकारियों को पानी की किल्लत के बारे में बताया.

    पिथौरागढ़ जिले में पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति भी बाधित होने से तेल भराने के लिए पंपों पर लोगों की काफी भीड़ लग रही है. जिले में पेट्रोल 105 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है. सड़क मार्ग बंद होने से रोजमर्रा की चीजों की कमी होने लगी है. जिले में आपदा प्रभावित क्षेत्रों का जायजा ले रहे उत्तराखंड के पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने जल्द ही पेयजल व्यवस्था के सुचारू होने की बात कही है.

    बताते चलें कि उत्तराखंड में बीते दिनों बारिश के रूप में आई आपदा से पिथौरागढ़ में हुए नुकसान से निपटने की कोशिशें लगातार जारी हैं. कुदरत के बरसाए कहर से जिले में कई जगह जरूरी आपूर्ति बाधित हुई है, तो वहीं करीब 40 सड़कें अभी भी बंद हैं. इस वजह से क्षेत्र की जनता को तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    अगली ख़बर