Home /News /uttarakhand /

शिक्षा अधिकारी के बेटे ने घर से उड़ाए पांच लाख के जेवर, पिता ने दर्ज कराया मुकदमा

शिक्षा अधिकारी के बेटे ने घर से उड़ाए पांच लाख के जेवर, पिता ने दर्ज कराया मुकदमा

पिथौरागढ़ थाना कोतवाली क्षेत्र में एक अजीब मामला सामने आया है। शिक्षा विभाग में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी के घर पांच लाख रुपए के जेवरात की चोरी हो गई थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जब चोरों की तलाश में दो टीमें लगा दी। जब पुलिस को चोरों का पता चला तो सभी के होश उड़ गए।

पिथौरागढ़ थाना कोतवाली क्षेत्र में एक अजीब मामला सामने आया है। शिक्षा विभाग में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी के घर पांच लाख रुपए के जेवरात की चोरी हो गई थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जब चोरों की तलाश में दो टीमें लगा दी। जब पुलिस को चोरों का पता चला तो सभी के होश उड़ गए।

पिथौरागढ़ थाना कोतवाली क्षेत्र में एक अजीब मामला सामने आया है। शिक्षा विभाग में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी के घर पांच लाख रुपए के जेवरात की चोरी हो गई थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जब चोरों की तलाश में दो टीमें लगा दी। जब पुलिस को चोरों का पता चला तो सभी के होश उड़ गए।

अधिक पढ़ें ...
पिथौरागढ़ थाना कोतवाली क्षेत्र में एक अजीब मामला सामने आया है। शिक्षा विभाग में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी के घर पांच लाख रुपए के जेवरात की चोरी हो गई थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जब चोरों की तलाश में दो टीमें लगा दी। जब पुलिस को चोरों का पता चला तो सभी के होश उड़ गए।

पुलिस अधीक्षक रोशन लाल शर्मा ने बताया कि शिक्षा अधिकारी के नाबालिग लड़के अपने दो साथियों के साथ मिलकर चोरी की घटना को अंजाम दिया था। कम उम्र के होने के कारण आरोपियों का शायद इसका ज्ञान नहीं रहा कि वे क्या करने जा रहे हैं।

पुलिस ने बताया कि शेष दो आरोपी भी नाबालिग हैं। इस कारण तीनों के खिलाफ जेजे एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

पूरे घटनाक्रम में सबसे अधिक फजीहत शिकायतकर्ता शिक्षा अधिकारी की हुई। रिपोर्ट दर्ज कराते वक्त उन्‍होंने सपने में भी नही सोचा था कि चोरी का सूत्रधार उनका अपना बेटा निकलेगा।

जब तक इन चोरों का पता पुलिस ने लगाया, मामला दर्ज किया जा चुका था। ऐसे में शिक्षा अधिकारी चाह कर भी अपने नाबालिग बेटे को कानून के फंदे में फंसने से बचा नहीं सके। पुलिस ने तीनों आरोपियों से पांच लाख के जेवरात और 30 हजार नकद रुपए बरामद कर लिए हैं।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

अगली ख़बर