Home /News /uttarakhand /

family got 12 year old minor daughter married police action nodelsp

पिथौरागढ़: ऐसी भी क्या मजबूरी! 12 साल की लड़की की दो बार करा दी शादी

12 year old girl married: सीमांत जनपद पिथौरागढ़ में तमाम ऐसे इलाके हैं, जो काफी पिछड़े हैं. हाल में ही सीमांत जिले में एक 12 साल की लड़की की उसके परिजनों ने दो बार शादी करा दी. मामला सामने आने के बाद पुलिस ने परिजनों और पति को गिरफ्तार कर लिया. इन इलाकों में नाबालिग लड़कियों की शादी की सबसे बड़ी वजह गरीबी और शिक्षा का अभाव ही माना जाता है.

अधिक पढ़ें ...

हिमांशु जोशी

पिथौरागढ़. उत्तराखंड के सीमांत जनपद पिथौरागढ़ में तमाम ऐसे इलाके हैं, जो आज भी मूलभूत सुविधाओं से कोसों दूर हैं. यहां विपरीत परिस्थितियों में लोग जीवनयापन करते हैं. विकास से कोसों दूर पिथौरागढ़ के दूरस्थ इलाके, जहां लोग शिक्षा से वंचित रह गए. हाल में ही इस सीमांत जिले में एक 12 साल की लड़की की उसके परिजनों ने दो बार शादी करा दी. मामला सामने आने के बाद पुलिस ने परिजनों और पति को गिरफ्तार कर लिया. दूरस्थ इलाकों में नाबालिग लड़कियों की शादी की सबसे बड़ी वजह गरीबी और शिक्षा का अभाव ही माना जाता है.

आधुनिकता के बढ़ते दौर में कुछ तस्वीरें ऐसी सामने आती हैं, जिससे पता चलता है कि अभी भी समाज का एक वर्ग मानसिक रूप से विकसित नहीं हो पाया है. जिले के दुर्गम इलाकों में गरीबी और शिक्षा के अभाव में लड़कियों का जीवन बर्बाद हो रहा है. 12 साल की लड़की की दो बार शादी का मामला सामने आते ही इस विषय पर नए सिरे से बहस छिड़ गई है. एक और मामले में बेरीनाग में पुलिस ने समय रहते नाबालिग लड़की की शादी रुकवाई.

पैसों की लालच में छोटी उम्र में ही कर देते हैं बेटी की शादी
पिथौरागढ़ जनपद में हाल ही में नाबालिग लड़कियों की शादी के दो मामले सामने आए. कई बार इस तरह के मामले सामने नहीं आ पाते. इसकी सबसे बड़ी वजह समाज की मौन सहमति भी होती है. सीमांत जिले में बॉर्डर से लगे ऐसे कई दुर्गम इलाके हैं, जहां गरीबी के चलते लोग थोड़े से पैसों के लालच में छोटी उम्र में ही अपनी बेटियों की शादी कर देते हैं.

एसपी बोले- इस तरह के मामलों की फौरन दें सूचना
पिथौरागढ़ के एसपी लोकेश्वर सिंह ने जनता से अपने आसपास हो रही सामाजिक कुरीतियों की सूचना पुलिस को देने की अपील की है. खेलने-कूदने और पढ़ाई करने की उम्र में ही नाबालिग लड़कियों की शादी होना इस बात का सबूत है कि अभी भी समाज में ऐसे लोग हैं, जिनका मानसिक विकास नहीं हो पाया है. जिसका मतलब है कि शिक्षा, संसाधन और जागरूकता से अभी भी सीमांत के इलाके बहुत दूर हैं.

Tags: Pithoragarh news, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर