उत्तराखंड में बाढ़ का कहर: नदी में बह गया हाल में ही बना पुल, गांव में पानी भरने से दहशत में ग्रामीण
Pithoragarh News in Hindi

उत्तराखंड में बाढ़ का कहर: नदी में बह गया हाल में ही बना पुल, गांव में पानी भरने से दहशत में ग्रामीण
उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में नदी में पुल बह गया.

उत्तराखंड (Uttarakhand) के कई इलाकों में बाढ़ (Flood) का कहर जारी है. तेज बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं और गांवों में बाढ़ का पानी घुसने लगा है.

  • Share this:
पिथौरागढ़. उत्तराखंड के कई इलाकों में बाढ़ (Flood) का कहर जारी है. तेज बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं. पिथौरागढ़ जिले के जोलजीबी मदकोट मुनस्यारी मार्ग पर हाल में ही बना एक पुल (Bridge) बाढ़ (Flood) के पानी से नदी में बह गया है. गोसी नदी (Gosi River) के पानी में पुल बहा है. दोगड़ीगाढ़ के पास मेंचा गांव के लोग पुल बहने और नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण दहशत में हैं. नदी किनारे बसे इस गांव में बाढ़ का पानी भर रहा है. बताया जा रहा है कि जल्द ही कोई उचित कदम नहीं उठाने पर इस गांव में काफी परेशानी आ सकती है.

मिली जानकारी के मुताबिक, बीते सोमवार को पिथौरागढ़ जिले के दोगड़ीगाढ़ में गोरी नदी पर बना पुल बह गया. बताया जा रहा है कि पुल हाल में ही बनाकर तैयार किया गया था. कुछ महीने में ही ये पुल पानी में बह गया. हालांकि, राहत की बात है कि जब पुल बहा उस समय कोई भी उसपर से पार नहीं हो रहा था. इसके चलते किसी प्रकार की जनहानि की सूचना नहीं है. हालांकि नदी का जलस्तर बढ़ने से ग्रामीणों में चिंता बढ़ गई है. प्रशासन से मदद की गुहार ग्रामीण लगा रहे हैं.





यहां बादल फटने से ताबाही
मिली जानकारी के मुताबिक हाल ही में बादल फटने की वजह से पिथौरागढ़ के तांगा गांव में भारी तबाही मच गई थी. बता दें कि बारिश के मौसम में पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन और बादल भटने के मामले बढ़ जाते हैं. बीते हफ्ते पिथौरागढ़ में बादल फटने की वजह से तांगा गांव में भारी नुकसान हुआ था. एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी और पुलिस की टीमों ने मिलकर कई दिनों तक सर्च ऑपरेशन चलाया था. तब मलबे से 5 शवों को बरामद किया जा सका. बारिश में पहाड़ी क्षेत्रों में लोगों को सतर्क रहने कहा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading