Home /News /uttarakhand /

icu services is not available in district due to staff shortage localuk nodark

पिथौरागढ़ में एक ICU तक नहीं चला सका स्वास्थ्य महकमा, मरीजों को लगानी पड़ रही महानगरों की दौड़

Pithoragarh News: पिथौरागढ़ जिले में आईसीयू सेवा मौजूद होने के बाद भी इसका संचालन न होने से हर रोज मरीजों को बड़े शहरों के अस्पतालों में रेफर किया जाता है. वहीं, जिला अस्पताल के पीएमएस डॉ जेएस नबियाल ने बताया कि आईसीयू चलाने के लिए विशेष स्टाफ की जरूरत होती है, जो जिले में मौजूद नहीं हैं.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- हिमांशु जोशी

पिथौरागढ़. उत्तराखंड का सीमांत जिला पिथौरागढ़ (Health Services in Pithoragarh) अपनी बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं के लिए हमेशा से ही सुर्खियों में बना रहता है. अभी तक आईसीयू सेवा शुरू न होने से पिथौरागढ़ की जनता में नाराजगी है. जिले में आईसीयू होने के बाद भी इसका संचालन न होने से हर रोज मरीजों को बड़े शहरों के अस्पतालों में रेफर किया जाता है. सीमांत जिले में हंस फाउंडेशन ने चार साल पहले 2.5 करोड़ रुपये की लागत से जिला अस्पताल में आईसीयू का निर्माण किया था, जिससे शहर के लोगों को उम्मीद थी कि अब उन्हें उपचार के लिए महानगरों में नहीं जाना पड़ेगा, लेकिन चार साल बाद भी अभी तक स्टाफ की तैनाती नहीं हो सकी है, जिससे जनता में नाराजगी है.

पिथौरागढ़ जिले में 14 अप्रैल, 2018 को तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हंस फाउंडेशन द्वारा स्थापित जिला अस्पताल में आईसीयू का उद्घाटन किया गया था. जिसके बाद कोविड के समय आईसीयू का संचालन किया गया, जिसकी खूब वाहवाही बटोरी गई. हालांकि अब यह आम जनता के लिए सफेद हाथी बना हुआ है और सीमांत की जनता आईसीयू के लिए महानगरों की दौड़ लगा रही है.

जिला अस्पताल के पीएमएस के कही ये बात
यही नहीं, हंस फाउंडेशन द्वारा जिले में तीन साल तक आईसीयू का संचालन करने की बात भी कही गई थी, जिसका अभी तक कोई पता नहीं है. जिला अस्पताल के पीएमएस डॉ जेएस नबियाल ने बताया कि आईसीयू चलाने के लिए विशेष स्टाफ की जरूरत होती है, जो जिले में मौजूद नहीं हैं. इस समस्या से शासन को अवगत कराने की बात भी पीएमएस द्वारा कही गई है.

ऐसा नहीं है कि जिले की आईसीयू सेवा का मुद्दा किसी से छिपा हुआ है. जून महीने में स्वास्थ्य महानिदेशक के पिथौरागढ़ दौरे में भी उन्हें इस समस्या से अवगत कराया गया और पिछले तीन साल से विभाग और जनता लगातार स्टाफ की तैनाती की मांग करती आई है, लेकिन उत्तराखंड का स्वास्थ्य महकमा पहाड़ों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने में हमेशा से नाकाम ही रहा है.

district hospital in pithoragarh

Tags: ICU Bed, Pithoragarh district, Pithoragarh hindi news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर