अपना शहर चुनें

States

चीन की सीमा से लगते इलाकों में BRO का कमाल, बॉर्डर पर तैनात जवान माता-पिता और पत्‍नी को कर सकेंगे VIDEO कॉल

बीआरओ ने सीमावर्ती गांवों तक संचार नेटवर्क स्थापित कर दिल जीत लिया है.
बीआरओ ने सीमावर्ती गांवों तक संचार नेटवर्क स्थापित कर दिल जीत लिया है.

यह गांव पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी से 56 किमी दूर चीन सीमा के नजदीक स्थित है. सीमा सड़क संगठन (BRO) के जवानों ने यहां Wi-Fi सेवा बहाल करने में सफलता पाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 12:55 AM IST
  • Share this:
पिथौरागढ़: कड़ाके के ठंड के बीच सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने उत्तराखंड में चीन की सीमा के नजदीक नजदीक स्थित लास्पा गांव को वाई-फाई से जोड़ दिया है. यह गांव पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी से 56 किमी दूर चीन सीमा के नजदीक स्थित है. सीमा सड़क संगठन के कर्मचारियों ने माइनस 11 डिग्री तापमान पर काम करके अपने बुलंद हौसलों का परिचय दिया. मुनस्यारी-मिलम सड़क बना रहे बीआरओ ने सीमावर्ती गांवों तक संचार नेटवर्क स्थापित कर दिल जीत लिया है.



लास्पा गांव में बीआरओ ने अपना कैंप स्थापित किया. सड़क निर्माण के साथ-साथ वाई-फाई सेवा शुरू की है. उच्च हिमालयी क्षेत्र में पहली बार वाई फाई सेवा शुरू की गई है. बर्फबारी के बाद गर्मियों के मौसम में यहां ग्रामीण पहुंचते हैं. अब वे भी वाईफाई सेवा का लाभ उठा सकेंगे. इसके अलावा चीन सीमा की चौकसी में तैनात रेलकोट चौकी के जवानों को इसका सीधा लाभ मिलेगा. जवान महज 5 किमी दूर लास्पा गांव पहुंचकर अपने परिवार से वीडियो कॉल कर सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज