होम /न्यूज /उत्तराखंड /

पिथौरागढ़ के संरक्षित इलाकों में जाने के लिए जरूरी है पास, जानिए कैसे मिलता है इनर लाइन परमिट?

पिथौरागढ़ के संरक्षित इलाकों में जाने के लिए जरूरी है पास, जानिए कैसे मिलता है इनर लाइन परमिट?

Inner Line Permit News: पिथौरागढ़ के हिमालयी इलाके चीन और नेपाल की सीमाओं से लगे हैं, इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से ये क्षेत्र संरक्षित रखे गए हैं. बिना इनर लाइन परमिट के किसी बाहरी व्यक्ति का इस इलाके में आना गैरकानूनी है. 

रिपोर्ट- हिमांशु जोशी

पिथौरागढ़. उत्तराखंड का सीमांत जिला पिथौरागढ़ (Tourist Spots in Pithoragarh) अपनी चीन सीमा से लगी हिमालयी घाटी के लिए काफी प्रसिद्ध है. यह क्षेत्र धार्मिक पर्यटन के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है, जहां की खूबसूरती का दीदार करने पर्यटक देश के कोने-कोने से यहां पहुंचते हैं. इन इलाकों में पहुंचने के लिए सुरक्षा एजेंसियों से इनर लाइन परमिट (Inner Line Permit) की जरूरत पड़ती है, जिसे लेने के लिए पहले पर्यटकों को काफी इंतजार करना पड़ता था. हालांकि अब चीन सीमा के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में जाने के लिए पर्यटक घर बैठे ही इनर पास के लिए आवेदन कर सकते हैं और परमिट ऑनलाइन ही प्राप्त कर सकते हैं.

पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान की पहल पर पर्यटकों को यह सुविधा दी गई है, जिससे यहां आने वाले पर्यटकों को पास बनाने में दिक्कत न हो. इनर लाइन परमिट एक आधिकारिक यात्रा दस्तावेज है, जिसे संबंधित राज्य सरकार द्वारा जारी किया जाता है. यह भारतीय नागरिकों को देश के अंदर किसी संरक्षित क्षेत्र में निश्चित अवधि के लिए यात्रा की अनुमति देता है.

अब इनर पास सिर्फ ऑनलाइन ही बन सकेंगे
पिथौरागढ़ के हिमालयी इलाके दो देशों (चीन और नेपाल) की सीमाओं से लगे हैं, इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से ये क्षेत्र संरक्षित रखे गए हैं. बिना इनर लाइन परमिट के किसी बाहरी व्यक्ति का इस इलाके में आना गैरकानूनी है. इस इलाके में ओम पर्वत, आदि कैलाश जैसे धार्मिक पर्यटन स्थल मौजूद हैं. अभी तक प्रशासन 97 ऑनलाइन इनर लाइन परमिट और 4349 ऑफलाइन परमिट जारी कर चुका है. अब इनर पास सिर्फ ऑनलाइन ही बन सकेंगे. जिले के पर्यटन कारोबारियों ने प्रशासन की इस पहल को राहत देने वाला कदम बताया है. टूर ऑपरेटर निकित खत्री ने कहा कि इस पहल से हमें काफी राहत मिली है. अब हम घर बैठे ही जरूरी दस्तावेजों को जमा कर इनर लाइन परमिट पा सकते हैं.

जिला प्रशासन की ऑनलाइन इनरलाइन परमिट की व्यवस्था पर्यटकों के लिए काफी राहत लेकर आई है. इसके लिए पर्यटक को आवेदन के साथ अपना परिचय पत्र और मेडिकल फिटनेस का प्रमाणपत्र देना होता है. सभी प्रपत्रों की जांच के बाद संबंधित एसडीएम की ओर से परमिट जारी किया जाता है. इससे अपनी सुविधा के अनुसार पर्यटक कहीं पर भी बैठकर ऑनलाइन इनर लाइन परमिट ले सकता है. पहले इस प्रक्रिया में काफी समय बर्बाद हो जाता था, जिस कारण कई लोग इनर लाइन क्षेत्र में जाना पसंद नहीं करते थे.

अब पर्यटक pass.pithoragarh.online पर क्लिक कर इनर लाइन परमिट के लिए आवेदन कर सकते हैं और अधिक जानकारी के लिए एसडीएम कार्यालय धारचूला में संपर्क कर सकते हैं, जिसका मोबाइल नंबर 9412936952 है.

SDM Office Dharchula

Tags: China border, India-Nepal Border, Pithoragarh district, Pithoragarh hindi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर